Monday , June 13 2022
Home / पूर्वांचल / आज़मगढ़ / रंगदारी वसूलने आया अबू सलेम का गुर्गा गिरफ्तार

रंगदारी वसूलने आया अबू सलेम का गुर्गा गिरफ्तार

man-arrested-for-allegedly-circulating-objectionable-picture-of-pm-modi_1480153573देवगांव बाजार के बसही इकबालपुर निवासी एक व्यक्ति से एक लाख रुपये की फिरौती लेने सोमवार की शाम पहुंचे हिस्ट्रीशीटर इश्तेयाक को पुलिस ने घेरेबंदी कर गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से एक तमंचा और एक कारतूस बरामद हुआ। देवगांव पुलिस का कहना है कि पकड़ा गया बदमाश अबू सलेम का गुर्गा रहा है। इससे पहले, रंगदारी मांगने के आरोप में उसे दिल्ली की स्पेशल सेल गिरफ्तार कर चुकी है। उसके अन्य साथियों की तलाश की जा रही है।
 
देवगांव बाजार से सोमवार की देर शाम गिरफ्तार इश्तेयाक पुत्र कमरुद्दीन देवगांव कोतवाली क्षेत्र के बसही इकबालपुर गांव का रहने वाला है। इश्तेयाक ने अपने गांव के अब्दुल खालिक  को फोनकर  एक लाख रुपये रंगदारी मांगी थी। धमकी भरा फोन आने पर अब्दुल खालिक ने देवगांव पुलिस को सूचना दी थी। कोतवाल देवगांव मुनीष चौहान ने बताया कि खालिक ने रंगदारी की रकम देने के लिए सोमवार को इश्तेयाक को देवगांव बाजार में बुलाया। शाम करीब छह बजे जैसे ही इश्तेयाक देवगांव तिराहे पर पहुंचा कि पुलिस ने घेरेबंदी कर उसे गिरफ्तार कर लिया। तलाशी लेने पर इश्तेयाक के पास से तमंचा और कारतूस बरामद हुआ।

कोतवाल ने बताया कि इश्तेयाक पहले अबू सलेम के लिए काम करता था। इश्तेयाक के खिलाफ देवगांव थाने में हत्या, धन उगाही, मारपीट, आर्म्स एक्ट सहित अन्य धाराओं में करीब एक दर्जन मुकदमे दर्ज हैं। वह   थाने का हिस्ट्रीशीटर है।  
इससे पहले इश्तेयाक को 2002 में दिल्ली की स्पेशल सेल ने रंगदारी मांगने के मामले में गिरफ्तार किया था। वह दिल्ली के एक व्यापारी को रुपये के लिए फोन कर धमका रहा था। इस मामले में इश्तेयाक के साथ उसके गांव का एक और बदमाश शामिल था।

पुलिस के मुताबिक इश्तेयाक ने वाराणसी की एक धनाड्य महिला से दूसरी शादी क ी थी लेकिन वह महिला इश्तेयाक के पहली पत्नी के बच्चों को नहीं स्वीकार कर रही है। ऐसे में बच्चों और अपना खर्च चलाने के लिए इश्तेयाक रंगदारी मांगकर खर्च चला रहा था। सीओ लालगंज एसपी तोमर ने बताया कि इश्तेयाक ने पूछताछ के दौरान उसके कुछ साथियों के नाम और पते की जानकारी हुई है। उनकी तलाश की जा रही है।