हार्दिक पटेल ने नीतीश को किसान सम्मेलन में गुजरात आने का दिया न्योता

 

hardik-14-12-2016-1481694607_storyimage

गुजरात के पाटीदार आरक्षण आंदोलन के नेता और पटेल नवनिर्माण सेना के प्रमुख हार्दिक पटेल ने मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनके आवास पर मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच करीब घंटे भर बात हुई। पटेल ने मुख्यमंत्री को गुजरात के बोटाद में 28 जनवरी को प्रस्तावित किसान रैली में आने का न्योता दिया। उन्होंने अपने आंदोलन में समर्थन देने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री का आभार जताया। मुख्यमंत्री ने उन्हें गुजरात आने का आश्वासन दिया।

पटेल एक दिवसीय यात्रा पर मंगलवार को पटना पहुंचे थे। पटना एयरपोर्ट पर उनका भव्य स्वागत किया गया। लाल बत्ती गाड़ी उन्हें दी गई। मुख्यमंत्री आवास में ही उनका दोपहर का भोजन भी हुआ। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि देशभर में मंडल कमीशन की तर्ज पर आरक्षण लागू होना चाहिए। नोटबंदी पर कहा कि 30 दिसंबर के बाद बैंकों व एटीएम पर लोगों को कतार में खड़ा नहीं होना पड़ेगा तो हम मानेंगे कि यह सही कदम है। कालाधन के खिलाफ हम भी हैं, पर इसे लागू करने का तरीका गलत था। बिहार में वीआईपी सुविधा मिलने पर हार्दिक ने कहा, मैं साधारण आदमी हूं।

गुजरात में भाजपा नेता बिकवाते हैं शराब

हार्दिक पटेल ने यह भी कहा कि गुजरात में शराबबंदी है, पर वहां शराब की बिक्री हो रही है। इसमें भाजपा नेताओं का ही हाथ है। पटना में उन्होंने पटेल नव निर्माण सेना के कार्यकर्ताओं व बुद्धिजीवियों से भी मुलाकात की। शाम को बोधगया के लिए रवाना हो गए। बोधगया के बाद वे बनारस होते हुए दिल्ली जाएंगे। वे उत्तर प्रदेश चुनाव में भी किसानों के मुद्दे पर दौरा करेंगे। मुख्यमंत्री से उनके मुलाकात के समय जदयू नेता केसी त्यागी, आरसीर्पी ंसह, पटेल नवनिर्माण सेना के गुजरात के अध्यक्ष जयेंद्र भाई पटेल, बिहार के अध्यक्ष राजीव रंजन आदि उपस्थित थे।