अलीगढ़ में बोले पीएम मोदी: विरोधी इसलिए गाली दे रहे हैं क्‍योंकि मैं स्‍क्रू कस रहा हूँहूँ

2-9

उत्‍तर प्रदेश में 7 चरणों में चुनाव संपन्‍न होने हैं। जिसके
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां रविवार को विजय शंखनाद रैली में समाजवादी पार्टी (सपा) तथा कांग्रेस के गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की आंधी से बचने के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने गठबंधन का सहारा लिया है, लेकिन यह आंधी तेज है, जो उन्हें न टिकने देगी न बचने देगी, क्योंकि जनता परिवर्तन चाहती है, न्याय चाहती है। गठबंधन पर कटाक्ष करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “आंधी तेज हो तो सहारा लेना पड़ता है।” उन्होंने कहा कि यह लड़ाई आपको न्याय दिलाने की लड़ाई है। उत्तर प्रदेश में भाजपा की आंधी है। उत्तर प्रदेश की जनता बदलाव चाहती है।” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर सीधा वार करते हुए कहा, “कोई (केंद्र की भाजपा सरकार) आया है, जो पापियों का हिसाब मांग रहा है। कांग्रेस को 70 साल का हिसाब देना होगा।” नोटबंदी को लेकर उन्होंने विपक्षी दलों के विरोध का भी जिक्र किया।
उन्होंने कहा, “राजनीतिक दल तो पहले भी थे, 2014 के चुनाव में भी थे, लेकिन उन सभी राजनीतिक दलों का गुस्सा क्या जो अभी नजर आता है, वैसा पहले भी था? वे रोज नया फतवा निकाल रहे हैं। उनके गुस्से का कारण है कि मैं उन सबके स्क्रू टाइट कर रहा हूं। किसी भी प्रकार की परेशानी किए बिना भ्रष्टाचार से लड़ाई कैसे लड़ी जाती है, हमने यह करके दिखाया।” प्रधानमंत्री ने अलीगढ़ में बंद हो चुके कारखानों के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया।
मोदी ने कहा, “पहले अलीगढ़ के ताले पूरे हिंदुस्तान में बिकते थे, लेकिन इतने साल तक उत्तर प्रदेश में इस तरह से सरकार चलाई गई कि अलीगढ़ का ताला केवल अलीगढ़ के ही काम आया। छोटे कारखानों पर ताला लग गया।” राज्य में बिजली की स्थिति को बदहाल करार देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “लखनऊ में बैठी सरकार बिजली नहीं दे पा रही। उत्तर प्रदेश में लोग बिजली की स्थिति पर तरह-तरह की बातें करते हैं। ट्रेनों में, दुकानों में लोग एक-दूसरे से कहते हैं कि मेरे यहां मंगलवार को बिजली आई थी तो दूसरा कहता है कि हमारे यहां तो तीन दिन से बिजली आई ही नहीं।”

उन्होंने कहा, “वक्त बदल चुका है। विकास की सीधी परिभाषा है। विकास यानी -विद्युत, कानून व्यवस्था और सड़क।” प्रधानमंत्री ने कहा, “उत्तर प्रदेश से गुंडागर्दी और भ्रष्टाचार में लिप्त नेताओं को हटाइए।” किसानों के मुद्दों को उठाते हुए उन्होंने कहा, “हरियाणा और मध्य प्रदेश में भी भाजपा की सरकार है, लेकिन वहां किसानों को नुकसान नहीं होता। राज्य में हमारी सरकार बनने पर हम किसानों का कर्ज माफ करेंगे।”
Also Read
सुप्रीम कोर्ट ने कहा- जो लोग वोट नहीं देते उन्‍हें सरकार को दोष देने या सवाल करने का हक नहीं
कैश में ली 3 लाख रुपए से ज्यादा की रकम तो भारी जुर्माने के लिए रहे तैयार
गन्ना किसानों के मुद्दे को लेकर अखिलेश पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “उत्तर प्रदेश की सरकार किसानों से सिर्फ तीन फीसदी की खरीदारी करती है। हमें मौका दीजिए, हम यह सूरत बदल देंगे।” उन्होंने कहा कि केंद्र की सरकार ने गन्ना किसानों का 22 हजार करोड़ रुपये का बकाया चुकाया। प्रधानमंत्री ने कहा, “हमें एक बार मौका दीजिए। हम उत्तर प्रदेश को सपनों का उत्तर प्रदेश बनाएंगे।”
नोटबंदी को समर्थन के लिए देश की सवा अरब आबादी का धन्यवाद करते हुए उन्होंने कहा, “हम गरीबों के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। देश के सवा अरब लोगों ने जो समर्थन दिया, हम उसके आभारी हैं। भारत की ताकत आज पूरी दुनिया देख चुकी है।”