Monday , June 13 2022
Home / पूर्वांचल / आज़मगढ़ / आजमगढ़, चार पहिया वाहन के धक्के से दो युवकों की मौत

आजमगढ़, चार पहिया वाहन के धक्के से दो युवकों की मौत

बरदह थाना क्षेत्र के सरावां गांव के समीप हुआ हादसा

बरदह थाना क्षेत्र के सरावां गांव के समीप सोमवार की रात को चार पहिया वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार दो युवकों की मौत हो गई। दुर्घटना के बाद चार पहिया वाहन चालक गाड़ी समेत मौके से भाग गया।

बरदह थाना क्षेत्र के अवदह गांव निवासी 27 वर्षीय आलोक यादव पुत्र महावत यादव व इसी गांव के ही निवासी 32 वर्षीय नागेश्वर यादव पुत्र पंचम यादव एक साथ दिल्ली में रहकर किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी करते थे। दोनों 10 नवंबर को दिल्ली से घर आए हुए थे। किसी कार्य से दोनों सोमवार की शाम को भीरा बाजार गए हुए थे। बाजार से देर शाम को दोनों बाइक पर सवार होकर एक साथ वापस घर आ रहे थे। रास्ते में सरावां गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय के समीप पहुंचे थे। उसी दौरान सामने से तेज रफ्तार से आ रही चार पहिया वाहन ने धक्का मार दिया। दुर्घटना में गंभीर रूप से बाइक सवार दोनों युवक घायल हो गए। दुर्घटना के बाद चार पहिया वाहन चालक गाड़ी समेत मौके से भाग गया। आस पास के ग्रामीण दोनों घायलों को अस्पताल ले जाने की तैयारी कर रहे थे कि दोनों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया।

मरते दम तक दोनों ने निभाई दोस्ती

अवदह गांव में मौत से छाया छियापा

बरदह थाना क्षेत्र के सरावां गांव के समीप सोमवार की देर शाम को हुए सड़क हादसे में मृत दोनों युवकों ने मरते दम तक दोस्ती निभाई। उनके मौत से अवदह गांव में मंगलवार को छियापा छाया हुआ है।

अवदह गांव निवासी आलोक यादव व नागेश्वर यादव एक दूसरे के घनिष्ट मित्र थे। गांव में खेलने कूदने से लेकर एक साथ पढ़ाई की। पढ़ाई के बाद दोनों एक साथ दिल्ली में नौकरी करने के लिए गए। वहां से छुट्टी होने के बाद दोनों एक साथ दिल्ली से घर भी आए। सोमवार की देर शाम को भीरा बाजार से एक साथ बाइक पर सवार होकर घर जा रहे थे। रास्ते में हुए सड़क हादसे में भी दोनों एक साथ मरे और दोनों की शवों का पोस्टमार्टम भी एक ही साथ हुआ। पीएम हाउस पर जुटे ग्रामीणों में उनके इस दोस्ती की लोग मिसाल दे रहे थे। मृत आलोक तीन बहनों के बीच इकलौता भाई था। उसके एक पुत्र व एक पुत्री हैं। दूसरे मृत नागेशवर पांच भाइयों में चौथे नंबर पर था। नागेश्वन के एक पुत्र व दो पुत्रियां हैं। दोनों युवकों की मौत से परिवार में कोहराम मचा हुआ है। गांव के लोग भी इस घटना से मर्माहत नजर आ रहे थे।