मां सरस्वती की अराधना से होता है ज्ञान का विकास

sarswati

देवी सरस्वती संगीत, ज्ञान और कला की देवी मानी जाती है । माँ सरस्वती ब्रह्मा की दिव्य पत्नी के रूप में जानी जाती है, माँ सरस्वती ब्राह्माण की रचयिता है । एक छात्र को माँ सरस्वती की पूजा करनी चाहिए ताकि उनके आशीर्वाद से उसे परीक्षा में उच्च अंक प्राप्त हो। वह त्रिनिती में से एक (मां लक्ष्मी , मां पार्वती और माँ सरस्वती ) है। वह संगीत यंत्र वीणा पकड़े रहती है। उन्हें शारदा वाधदेवी भी कहा जाता है , उनका वाहन श्वेत हंस है।