सात स्कूली वाहन सीज, 52 का चालान

एटा में स्कूली वाहन हादसा के बाद शासन के निर्देश पर पुलिस प्रशासन जिले में शुक्रवार को सक्रिय हुआ। जांच अभियान में पुलिस टीम ने शुक्रवार को स्कूल वाहनों की जांच की। इस दौरान वाहनों के कागजात दुरुस्त नहीं पाए जाने पर सात स्कूली वाहनों को सीज कर दिया गया जबकि 52 वाहनों का चालान किया गया। 18 वाहनों से बतौर जुर्माना 42 सौ रुपये वसूले गए।vehicle-seized_1484936332
एटा में गुरुवार को स्कूल वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इसे प्रदेश सरकार ने गंभीरता से लिया और प्रदेश के सभी जिलों के अधिकारियों को कार्रवाई करने का निर्देश दिया। इसका असर यह रहा कि पुलिस प्रशासन ने सुबह से स्कूली वाहनों की जांच का अभियान चलाया। पुलिस टीम ने यातायात पुलिस के सहयोग से शहर के गिरिजाघर चौराहा, बवाली मोड़ और नरौली स्टैंड पर स्कूल वाहनों की जांच की।

इस दौरान पुलिस और ट्रैफिक विभाग की टीम ने स्कूल वाहनों के चालकों का ड्राइविंग लाइसेंस, गाड़ी के फिटनेस के कागजात, फर्स्ट एड बाक्स की जांच की। कई बसों में फर्स्ट एड बाक्स नहीं मिला तो कई वाहनों के कागजात दुरुस्त नहीं थे। सात स्कूल के वाहन चालकों के पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं था। इनके वाहनों के कागजात भी अधूरे पाए गए।

चालक के पास डीएल और कागजात अधूरे पाए जाने पर उन्हें सीज कर दिया गया। इसके अलावा, ओवरलोड छात्रों को भरकर छह ऑटो रिक्शा पकड़े जाने पर उनका चालान किया गया। शहर के कुछ बड़े प्राइवेट स्कूल की बसों की चेकिंग के दौरान सभी में फर्स्ट एड बाक्स तो मौजूद मिले लेकिन दो गाडिय़ों के मेडिकल कीट की दवाएं एक्सपायर थी।

इन दवाओं को नष्ट कर नई दवाएं रखने की चेतावनी दी गई। चेकिंग के दौरान खामियां पाए जाने पर 52 स्कूलों के छोटे-बड़े वाहनों का चालान किया गया। जबकि 18 वाहनों से 42 सौ रुपये का जुर्माना वसूला गया। एक स्कूली बस में क्षमता से अधिक छात्र-छात्राएं बैठने पर पुलिस चालक को चेतावनी देकर छोड़ दिया।