Thursday , June 16 2022
Home / प्रयागराज / प्रयागराज : सामूहिक दुष्कर्म के बाद बीए की छात्रा के बेरहमी से कत्ल की आशंका निकला सच

प्रयागराज : सामूहिक दुष्कर्म के बाद बीए की छात्रा के बेरहमी से कत्ल की आशंका निकला सच

सामूहिक दुष्कर्म के बाद बीए की छात्रा के बेरहमी से कत्ल के मामले में आखिरकार वह आशंका सच निकली, जिसे पुलिस अफसर बार-बार नकारते रहे थे। अफजल की गिरफ्तारी के बाद यह बात साबित हो गई कि वारदात में नशेड़ी भी शामिल थे। जिन्होंने न सिर्फ मृतका बल्कि कई अन्य को भी अपना शिकार बनाया। इन्होंने मृतका की जान ले ली तो कई अन्य छात्राओं से भी बर्बरता कर उन्हें जिंदगी भर का जख्म दे दिया।

छात्रा का शव मिलने के बाद ही यह आशंका जताई गई थी कि वारदात में स्थानीय नशेड़ी युवकों का भी हाथ हो सकता है। दरअसल जिस जगह यह घटना हुई, वहां शाम होते ही नशेड़ियों का जमघट शुरू हो जाता है। सूत्रों का कहना है कि इस पूरे क्षेत्र में धड़ल्ले से स्मैक का धंधा किया जाता है। स्मैक के लती नशेड़ी ही क्षेत्र में छिनैती, चोरी व अन्य आपराधिक वारदातों को भी अंजाम देते हैं।

पुलिस नकारती रही छात्रा के दोस्त का बयान

हिरासत में लिए जाने के बाद मृतका के दोस्त अमन सिंह राजपूत ने भी यही बयान दिया था कि वह छात्रा से बातचीत कर रहा था तभी वहां पहुंचे दो युवकों ने उन दोनों को पीटना शुरू कर दिया था। जिसके बाद वह मौके से भाग निकला था। इसके बाद ही आशंका जताई जा रही थी कि वारदात में नशेड़ियों का भी हाथ है। लेकिन अफसर यह बात नकारते रहे थे। अब अफजल की गिरफ्तारी से यह बात आखिकार साबित हो गई।

इसलिए नकारते रहे थे अफसर
अफजल की गिरफ्तारी के बाद यह भी कहा जा रहा है कि घटना में नशेड़ियों का हाथ होने की बात नकारी गई तो इसकी अपनी वजह भी है। घटना केबाद आननफानन में पुलिस ने अमन व उसकेदो दोस्तों दीपक यादव व निखिल कनौजिया को जेल भेज दिया।  
साथ ही परिस्थितिजन्य साक्ष्यों के आधार पर दावा किया कि अमन ही मामले का मुख्य आरोपी है। जानकारों का कहना है कि घटना में नशेड़ियों की संलिप्तता की बात स्वीकार किए जाने पर मामला सीधे-सीधे कानून व्यवस्था से जुड़ता और इसे लेकर सवाल खड़े होते। यही वजह है कि आक्रोश को देखते हुए पुलिस ने आननफानन में खुलासा कर दिया। 

दो शिफ्टों में 24 घंटे पिकेट तैनाती के आदेश
एसएसपी अजय कुमार ने बताया कि यह बात संज्ञान में आई है कि घटनास्थल के आसपास अराजकतत्वों का जमघट लगता है। इसे देखते हुए ही घटनास्थल के दोनों ओर पुलिस पिकेट तैनात करने के आदेश दिए गए हैं। इसके तहत दो-दो पुलिसकर्मी की टीम 12-12 घंटे की शिफ्ट में मुस्तैद किए जाएंगे। मादक पदार्थों की बिक्री में संलिप्त लोगों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं।

new ad