Tuesday , June 14 2022
Home / Main slide / भ्रष्टाचार के खिलाफ चले अभियान से खफा लोग संसद नहीं चलने दे रहे

भ्रष्टाचार के खिलाफ चले अभियान से खफा लोग संसद नहीं चलने दे रहे

irnai-620x400आगरा: संसद में अद्भुत दृश्य दिख रहा है. भ्रष्‍टाचार के खिलाफ सरकार द्वारा चलाए अभियान से तिलमिलाए लोग, जो काले धन के समर्थक हैं,वे संसद नही चलने दे रहे. वे चाहते हैं कि नोटबंदी न हो.यह विचार केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्‍मृति ईरानी ने रविवार को भारतीय जनता युवा मोर्चा के सम्‍मेलन में प्रकट किये. स्मृति ईरानी ने अपने भाषण में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी भ्रष्‍टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं. इस जंग का एक स्‍वरूप 500 व 1000 रुपए के नोट को बंद करना है .प्रधानमंत्री संसद में जवाब देना चाहते हैं, लेकिन कई राजनीतिक दल संसद को चलने ही नहीं दे रहे हैं.जनता की बातों पर चर्चा होते ही कांग्रेस, सपा और बसपा इसे रोक देती है.

केंद्रीय कपड़ा मंत्री ने राहुल गांधी का बिना नाम लिए कहा कि एक सज्‍जन खाट सभा करने चले. यूपी में 13वीं पर खाट का वितरण होता है. लोकसभा चुनाव की तरह वे इस बार के विधानसभा चुनाव में सौ पर ही सिमटने की तैयारी में हैं.वह अमेठी में एक भी खाट सभा नहीं कर पाए. जो अपने घर में जवाब न दे सके वो संसद में जवाब मांग रहा है.इन राजनीतिक पार्टियों को अपनी गाड़ी यूपी चुनाव में रुकती हुई दिख रही है उन्होंने अपने भाषण में यूपी के चुनाव को महत्वपूर्ण बताते हुए जहां पिता -पुत्र मुलायम और अखिलेश पर भी तंज कसा, वहीं पाकिस्तानको मुंहतोड़ जवाब देने का जिक्र किया.अंत में यूपी लचर कानून व्यवस्था का उल्लेख कर भाजपा को जीताने की अपील की.