बलिया :पटरी से उतरा पैसेंजर ट्रेन का इंजन

16_01_2017-16bal31c-c-2सागरपाली रेलवे स्टेशन के पूर्वी केबिन के पास सोमवार की सुबह 11:00 बजे छपरा से वाराणसी जा रही पैसेंजर ट्रेन चालक के सूझबूझ से बड़ा हादसा टल गया। पटरी किनारे काम कर रहे रेल कर्मियों ने सामने से आ रही ट्रेन को देख ट्रैक पर ही लोहे का गार्डर छोड़ दिया जिसे देख चालक को इमरजेंसी ब्रेक लगाना पड़ा जिससे इंजन पटरी से उतर गया। हालांकि ट्रेन की रफ्तार काफी धीमी होने के कारण कोई दुर्घटना नहीं हुई और दो घंटे मशक्कत के बाद ट्रेन सागरपाली से आगे रवाना हुई। इस दौरान ट्रेन से यात्री भी नीचे उतर गए, जिसे अफरातफरी की स्थिति हो गई। यह वाकया उस समय हुआ जब सागरपाली पूर्वी केबिन के पास रेलवे ट्रैक की मरम्मत करते हुए मजदूर लोहे का बड़ा गार्डर लेकर बाहर आ रहे थे। ठीक इसी बीच छपरा-वाराणसी पैसेंजर उनके काफी नजदीक आ गई जिसे देख मजदूरों ने जल्दीबाजी में गार्डर को रेलवे ट्रैक पर ही छोड़ कर भाग गए। इसे देख चालक के भी होश उड़ गए और उसने इमरजेंसी ब्रेक लगा कर ट्रेन को रोकना चाहा, लेकिन ट्रैक पर पड़े गार्डर के आगे पड़ने के कारण इंजन का अगला पहिया नीचे उतर गया। चालक ने तुरंत ट्रेन को रोक दिया और इसकी सूचना अपने उच्चाधिकारियों को दी। इसके बाद मौके पर पहुंची टीम ने दो घंटे की मशक्कत के बाद ट्रेन के उतरे हुए पहिए को को किसी तरह लाइन पर चढ़ाया और उसे रवाना किया। इसको लेकर काफी देर तक स्थिति असामान्य बनी रही। बड़ी बात है कि ट्रैक पर काम चलने के दौरान ट्रेन को कैसे छोड़ा गया और इसका कॉशन क्यों नहीं दिया गया यह जांच का विषय है।

नहीं बता सकता कुछ भी : स्टेशन मास्टर