शर्मनाक: दो दिन तक पेड़ से लटकी रही लड़की की लाश, पुल‌िस झगड़ती रही सीमा व‌िवाद में

वही माल का इलाका…। वही पुलिसकर्मी…। दलित छात्रा लापता हुई तो परिवारवालों को तीन दिन टरकाते रहे। आखिर उसे मार डाला गया। हरदोई के संडीला में अधजली लाश मिली। एक दिन भी नहीं बीता पुलिस का एक और चेहरा सामने आया। dead-body_1458716673
एक महिला की लाश बाग में पेड़ से दो दिन से लटकती रही। माल व हरदोई की अतरौली पुलिस सीमा विवाद में उलझी रही। आखिर लेखपाल से पैमाइश कराई गई। पता चला इलाका माल पुलिस का है। तब झगड़ा तय हुआ। इसके बाद शव का पंचनामा हुआ और मॉर्च्युरी भेजा गया।

गांव जलौली स्थित सैनिक पुनर्वास निधि फार्म अटारी में एक पेड़ से 30 वर्षीय महिला का शव लटका होने की सूचना पर माल व हरदोई के अतरौली थाने की पुलिस मौके पर पहुंची। महिला के शरीर पर गुलाबी साड़ी, फुल स्वेटर व महरून ब्लाउज, दोनों कलाई में गुलाबी चूड़ियां, एक पैर में सफेद पीटी-शू, नीला मोजा व दूसरे पैर में सिर्फ मोजा था। दूसरा जूता कुछ दूरी पर पड़ा था।

छानबीन में लगा कि युवती की गला घोंटकर हत्या की गई और खुदकुशी का रूप देने के लिए गले पर गमछा कसकर पेड़ से लटकाया गया। इसके साथ दोनों थानों की पुलिस में सीमा विवाद शुरू हो गया। झगड़े की भनक लगने पर आला अफसरों ने फटकार लगाई। झगड़ा सुलझाने के लिए राजस्व टीम बुलाई गई। 

लेखपाल ने पैमाइश की और घटनास्थल माल थाना क्षेत्र का बताया। 
ग्रामीणों ने बताया कि पशुओं को चराने निकले बच्चों ने सोमवार को महिला का शव पेड़ से लटका देखा था। बच्चों ने परिवारवालों को जानकारी दी। बात पुलिस तक पहुंची। 

कानूनी झमेले के डर से किसी ने पुलिस को सीधे सूचना देने की हिम्मत नहीं जुटाई। मामला दो थानों की सरहद का था। जिंदा इंसान को इस थाने से उस थाने चक्कर लगवाने वाली पुलिस ने चुप्पी साध ली। पुलिस की चुप्पी तोड़े कौन, झमेले में फंसे कौन? इसलिए सब शांत रहे। 

शर्मनाक : अफसरों की फटकार का ऐसा असर…लाश उतारने से पहले पैमाइशअफसरों को बुधवार को इसका पता चला। फटकार लगी तो दो थानों की पुलिस पहुंची। पर फटकार के बावजूद मौके पर पहुंची दोनों थानों की पुलिस पैमाइश कराने में जुट जाती है। जब तक लेखपाल ने यह क्लीयर नहीं कर दिया कि मामला माल इलाके का है शव फंदे से नहीं उतारा गया।

बच्चों ने दो दिन पहले महिला का शव पेड़ से लटका देखा था लेकिन बुधवार को जब पुलिस मौके पर पहुंची तो उसकी कमर तक का हिस्सा जमीन पर था और बैठी युवती के गले से गमछे का फंदा कसकर दूसरा सिरा पेड़ की टहनी से कसे जाने जैसा दिख रहा था। 

माना जा रहा है कि खिंचाव के चलते दो दिन में कमर तक का हिस्सा जमीन पर जा टिका था। एएसपी ग्रामीण प्रताप गोपेंद्र यादव ने माल पुलिस को शव की शिनाख्त के ठोस प्रयास के आदेश दिए। कहा कि पहचान होने पर ही गुत्थी सुलझेगी। 

राजधानी के सभी थानों के साथ हरदोई व उन्नाव पुलिस को भी युवती का हुलिया नोट कराने के आदेश और विभिन्न स्थानों से लापता युवतियों का ब्योरा एकत्र करके मिलान करने को कहा है। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *