लखनऊ से 2000 के फर्जी नोट छापने वाले गिरोह गिरफ्तार

06_01_2017-06-01-2017-up-1
जली नोट सहित गिरफ्तारी

लखनऊ । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भले ही भष्टाचार को ठिकाने लगाने का अभियान छेड़ें हैं, लेकिन समाज के लोग ही इसमें सहयोग करने को तैयार नहीं हैं। लखनऊ में कल पुलिस ने जाली नोट बनाने के साथ ही उसको बाजार में चलाने के आरोप में दो महिलाओं के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया है।

विकासनगर से नई करेंसी के एक लाख 79 हजार रुपये के नकली नोट के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में दो सगी बहनें शामिल हैं। आरोपियों के पास से नकली नोट छापने की मशीन व प्रिंटर समेत अन्य दस्तावेज बरामद किए गए हैं। एएसपी क्राइम डॉ. संजय के मुताबिक क्राइम ब्रांच पिछले कई दिन से आरोपियों के पीछे लगी थी और उनकी गतिविधियों पर नजर गड़ाए हुई थी। कल रात में सही मौका देखकर तीनों को दबोच लिया गया। पकड़े गए लोगों में विकासनगर निवासी विनीता, उसकी बहन राशि उर्फ ऋतु व खालिद शामिल हैं।

ग्राहक बन गया सिपाही

क्राइम ब्रांच का एक सिपाही ग्राहक बनकर विनीता से मिलने गया था। इस दौरान आरोपियों ने नई करेंसी के पांच सौ व दो हजार के नकली नोट देने की बात कही। इसके बाद टीम सर्विलांस समेत अन्य माध्यमों से आरोपियों के पीछे लग गई।

खुफिया एजेंसी सक्रिय

नकली नोट मिलने की सूचना मिलते ही पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। पुलिसकर्मियों ने आनन-फानन खुफिया एजेंसियों के अलावा आलाधिकारियों को वारदात की जानकारी दी। इसके बाद खुफिया तंत्र सक्रिय हो गया। देर रात तक पुलिस के अलावा अन्य एजेंसी के अधिकारी विकासनगर थाने पहुंचे और आरोपियों से पूछताछ किया।

घर में प्रिंटर बरामद

पूछताछ के दौरान पुलिस देर रात आरोपियों को विकासनगर में विनीता के घर पर ले गई। तलाशी के दौरान आरोपियों को कमरे से नई करेंसी के नकली नोट छापने की मशीन मिली। यही नहीं नोट छापने के कागज व इंक के अलावा कुछ अन्य उपकरण भी पुलिस ने बरामद किए हैं। पुलिस का कहना है कि नकली नोट छापने के पीछे गिरोह सक्रिय है। आरोपी विनीता, राशि व खालिद के अलावा पुलिस गिरोह के अन्य सदस्यों का पता लगा रही है। आरोपियों से उनके साथियों के बारे में जानकारी जुटा रही है।

क्राइम ब्रांच से पूछताछ में आरोपी मोहम्मद खालिद ने बताया कि इस करेंसी की छपाई व मार्केट में वितरण में मेरा सहयोग रितु त्रिपाठी उर्फ राशि निवासी एचआईजी 32 सेक्टर-एल अलीगंज और विनीता पांडे निवासिनी ए-2/62 विशाल खंड गोमती नगर करती है।

घर में छपाई करके जाली नोटों को मार्केट में खपाती थीं महिलाएं

आरोपी ने जो जगह बताई उस पर पुलिस ने दबिश दी तो रितु के माकन के ऊपरी कमरे से पुलिस ने 31 पन्ने बिना कटे 500 रुपये के नोट, एक प्रिंटर, दो लैपटॉप, एक कटर, नोट बनाने वाले आधा रिम पेपर, कैंची और इंक बरामद की है।