Monday , June 13 2022
Home / Breaking News / जयललिता आज होगा अंतिम संस्कार, श्रद्धांजलि देने चेन्‍नई रवाना हुए पीएम

जयललिता आज होगा अंतिम संस्कार, श्रद्धांजलि देने चेन्‍नई रवाना हुए पीएम

तमिलनाडु कीjaya750_1480996610_749x421 मुख्‍यमंत्री जे जयललिता के सोमवार रात 11.30 बजे निधन हो गया।उनके निधन के बाद राज्‍य में सात दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है और मंगलवार को शाम 4.30 बजे उनका अंतिम संस्‍कार किया जाएगा। उनका अंतिम संस्‍कार मरीना बीच पर एमजीआर की समाधि के पास होगा।

जयललिता का प‍ार्थिव शरीर चेन्‍नई के राजाजी हाल में रखा गया है जहां उनके अंतिम दर्शनों के लोग भारी भीड़ उमड़ पड़ीक है। उनके निधन के बाद राज्‍य में भारी सुरक्षा इंतजाम किए गए हैं। राज्‍य के सभी स्‍कूल कॉलेजों के अलावा अन्‍य प्रतिष्‍ठान अगले तीन दिन के लिए बंद रहेंगे।

जयललिता को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चेन्‍नई के लिए रवाना हो गए हैं। इसके लिए पीएम ने अपने अन्‍य सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं। पीएम के अलावा कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी भी चेन्‍नई जाएंगे।

राजाजी हॉल में जयललिता के पार्थिव शरीर के पास शशिकला, केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू, मुख्यमंत्री पन्‍नीरसेल्वम समेत कई मंत्री, विधायक मौजूद हैं।

बता दें कि जयललिता को रविवार शाम दिल का दौरा पड़ा था, जिसके बाद से उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी।उन्हें ईसीएमओ और अन्य जीवन रक्षक उपकरणों पर रखा गया था, लेकिन उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जयललिता के निधन पर शोक जताया है। देर रात जैसे ही अपनी प्रिय नेता ‘अम्मा’ के निधन की खबर आई, उनके समर्थकों में शोक की लहर दौड़ गई।

अपोलो अस्पताल के बाहर अफरा-तफरी मच गई। कई लोग रोते-बिलखते देखे दिए। “अम्मा-अम्मा” के नारे गूंजने लगे। एक समर्थक बिलखते हुए कह रहा था, “अम्मा आप हमें छोड़कर कैसे जा सकती हो।” समर्थकों के बेकाबू होने की आशंका में पहले ही पूरे राज्य में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई थी।

अम्‍मा के निधन के दो घंटे बाद ही पन्‍नीरसेल्‍वम ने मुख्‍यमंत्री की शपथ ली और उनके साथ 32 अन्‍य मंत्रियों ने भी शपथ ग्रहण की। शपथ लेते हुए पन्‍नीरसेल्‍वम के हाथों में अम्‍मा की तस्‍वीर थी और आंखों में आंसू। जयललिता के निधन पर राष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री के अलावा देशभर के नेताओं ने शाेक प्रकट किया है।

देश ने एक ऐसा नेता खो दिया है, जिसे लाखों लोग चाहते और प्रशंसा करते थे। जयललिता के निधन पर गहरा शोक प्रकट करता हूं। -प्रणब मुखर्जी, राष्ट्रपति

सेल्वी जयललिता के निधन से गहरा धक्का लगा है। उनके निधन से भारत की राजनीति में शून्य पैदा हो गया है। लोगों से उनका जुड़ाव, गरीबों और हाशिए पर मौजूद लोगों के कल्याण को लेकर उनकी चिंता हमेशा प्रेरणा का स्रोत रहेगी – नरेंद्र मोदी, प्रधानमंत्री

जयललिता का निधन भारत के लोगों के लिए एक अपूरणीय क्षति है। -हामिद अंसारी, उप राष्ट्रपति

देश ने एक महान नेता खो दिया है। -राहुल गांधी, कांग्रेस उपाध्यक्ष

यह बहुत दुखद समाचार है। देश ने एक महत्वपूर्ण नेता खो दिया है। -शाहनवाज हुसैन, प्रवक्ता भाजपा

उनके निधन से हुई क्षति की पूर्ति नहीं हो पाएगी। -रणदीप सिंह सुरजेवाला, प्रवक्ता कांग्रेस