वन विभाग ने अज्ञात लोगों पर दर्ज किया मुकदमा, भाला लगने से हुई थी तेंदुए की मौत

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में बुधवार को ग्रामीणों पर तेंदुए ने हमला कर दिया था। बचाव में एक ग्रामीण ने उस पर बांस से वार किया। जिससे जख्मी होकर वह वापस जंगल में भाग गया। बाद में जब गांव वालों ने उसकी तलाश शुरु की तो जंगल में वह घायल पड़ा मिला। जिससे बाद में उसकी मौत हो गई। मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा था। जिसमे यह सामने आया कि उसकी मौत भाला लगने से हुई थी। अब इस मामले में वन विभाग ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाई शुरु कर दी है।

बांस के झुरमुट में छिपा बैठा था तेंदुआ
मामला खड्डा थाना क्षेत्र के गांव शिवपुर का है। जहां बुधवार की सुबह शौच के लिए जाती महिलाओं का सामना एक तेंदुए से हो गया। वह बांस के झुरमुट में छिपा बैठा था। उसे देखकर महिलाओं ने शोर मचाना शुरु कर दिया। जिसके बाद उसने महिलाओं पर हमला कर दिया। महिलाओं को बचाने के लिए गांव के हीरा नाम के युवक ने जानवर पर नुकीले बांस से हमला किया। जिससे तेंदुए के पिछले हिस्से में जख्म हो गया। जख्मी हालत में तेंदुए ने हीरा पर भी हमला करके उसको भी घायल कर दिया। घायलों के शोर मचाने पर गांव वाले लाठी-डंडे लेकर बाहर आए। तब तक तेंदुआ वापस जंगल में भाग गया।

भाला लगने से हुई मौत- पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ खुलासा
जब ग्रामीण उसकी तलाश करते हुए जंगल में घुसे तो वह बांस के झुरमुट में छटपटाता मिला। उसके पिछले हिस्से में गहरा घाव था। जिससे तड़पकर थोड़ी देर बाद उसकी मौत हो गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। जिसकी रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि मौत भाला लगने के चलते हुई है।

वन विभाग ने अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज किया मुकदमा
रेन्जर खड्डा बीके यादव ने तेंदुए की मौत का कारण। आगे कहा कि वन क्षेत्राधिकारी ने अज्ञात लोगों के खिलाफ वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है। खड्डा थाने में भी मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है।