Thursday , June 16 2022
Home / राष्ट्रीय / 15 विभूतियों को मिला ‘यूपी प्रवासी भारतीय रत्न’ सम्मान

15 विभूतियों को मिला ‘यूपी प्रवासी भारतीय रत्न’ सम्मान

विदेशों में रहकर उपलब्धियों के नए आयाम स्थापित करने वाले 15 एनआरआई बुधवार को यूपी प्रवासी भारतीय रत्न से नवाजे गए। मौका था द्वितीय प्रवासी दिवस समारोह का, जहां मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इन विभूतियों को सम्मानित किया। होटल ताज में आयोजित कार्यक्रम में सीआईआई से समीर गुप्ता, मुख्यमंत्री के सलाहकार आलोक रंजन, मुख्य सचिव राहुल भटनागर भी मौजूद थे।अर्चना सतीश के संचालन में शुरू हुए कार्यक्रम में उन प्रोजेक्ट्स पर भी बात की गई जो प्रवासी भारतीयों की मदद से यहां शुरू किए जा सकते हैं। यहां आए लोगों का कहना था कि यह सम्मेलन विदेशों में रहने वाले भारतीयों के लिए एक उम्मीद है कि वे बाहर रहकर भी अपनी मिट्टी के लिए कुछ कर सकते हैं।

d144999104

यूपी प्रवासी भारतीय रत्न इन्हें मिला

ज्ञानेन्द्र कुमार, प्रो. पीयूष गोयल, डॉ. अजेस महाराज, कृष्ण कुमार पांडेय, अदिति श्रीवास्तव, जितेन के अग्रवाल, तबस्सुम मंसूर, शेरबहादुर सिंह, प्रतिभा शालिनी तिवारी, राजीव भांबरी, सुरेश चंद्र अग्रवाल, सुधीर राठौर, विनोद गुप्ता, डॉ. सतीश राय, वीना भटनागर, विद्याधर सूरजपाल नायपॉल। सेना में सेवाएं देने वाले कृष्ण कुमार पांडेय मूलत: प्रतापगढ़ के रहने वाले हैं। 13 साल पहले वह वीआरएस लेकर कैलिफोर्निया चले गए। वहां उन्होंने श और शा की जुगलबंदी कर समाजसेवा का नया रास्ता निकाला।