Monday , June 13 2022
Home / पूर्वांचल / वाराणसी / वाराणसी में आज से दो दिवसीय गुजरात उत्सव का आगाज

वाराणसी में आज से दो दिवसीय गुजरात उत्सव का आगाज

10_12_2016-kashi_ghatगंगा के किनारे आने वाले दो दिनों तक साबरमती की आभा दिखेगी। मौका है दो दिवसीय सदाकाल गुजरात उत्सव का। इसकी सारी तैयारियां हो चुकी हैं। आयोजन अस्सी घाट पर दस व ग्यारह दिसंबर को होगा।

वाराणसी(जेएनएन)। बनारस में गंगा के किनारे आने वाले दो दिनों तक साबरमती की आभा दिखेगी। मौका है दो दिवसीय सदाकाल गुजरात उत्सव का। इसकी सारी तैयारियां हो चुकी हैं। आयोजन अस्सी घाट पर दस व ग्यारह दिसंबर को होगा। शाम पांच बजे उत्सव का विधिवत उद्घाटन गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी करेंगे। घाट पर ही आयोजित गुजरात प्रदर्शनी का उद्घाटन सुबह दस बजे गुजरात के गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जडेजा करेंगे।

तैयारी के लिए घाट पर डटे रहे अधिकारी – काशी गुजराती समाज द्वारा उत्सव की तैयारी के लिए शुक्रवार को सुबह से ही समाज के पदाधिकारी अस्सी घाट पर डटे रहे। इस दौरान गुजरात सरकार के अधिकारियों की टीम भी वहां पहुंची और तैयारी देख संतोष जताया। गुजरात सरकार की आइएएस अधिकारी सचिव प्रशासन अनीता करवाल व प्रिंसीपल सेक्रेट्री एनपी लवंगिया ने बताया कि कार्यक्रम में गुजरात के सीएम के साथ ही अन्य विशिष्टजन प्रतिभाग करेंगे। सात हजार के बैठने की व्यवस्था कार्यक्रम के संयोजक आलोक पारीख ने बताया कि उप्र के गुजराती समाज के काफी संख्या में लोग उत्सव में भाग लेंगे। इसके मद्देनजर घाट पर लगभग सात हजार लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है।

पहले दिन सूफी गायन – उत्सव के पहले दिन प्रख्यात सूफी गायक ओस्मान मीर का कार्यक्रम होगा। हास्य दरबार के हास्य कलाकार रंजीत वांग द्वारा प्रसिद्ध गुजराती मेर रास व डांगी नृत्य प्रस्तुत किया जाएगा। दूसरे दिन हास्य नाटक रंग रंगीलो गुज्जू भाई की प्रस्तुति होगी, गुजराती रंगमंच के प्रख्यात अभिनेता सिद्धार्थ संदेरिया अपने अभिनय का जलवा बिखेरेंगे। गुजराती रास व डांडिया की भी प्रस्तुति होगी।

लगेंगे 28 स्टाल – प्रदर्शनी में गुजरात की संस्कृति के साथ ही काशी की विशिष्टता को प्रदर्शित करने वाले 28 स्टाल लगाए जाएंगे। समाज के अध्यक्ष अनिल शास्त्री, सचिव दिनेश बजाज ने बताया कि गुजरात की गौरवशाली परंपरा की बुनियाद को मजबूत बनाए रखने, गुजरात के विकास मॉडल के प्रति लोगों में जानकारी साझा की जाएगी।गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी के लिए किए जा रहे विशेष इंतजामात। गंगा किनारे ही अस्थाई शौचालय का भी इंतजाम किया गया।