Sunday , June 19 2022
Home / Breaking News / बलिया :शराब के धंधे से जुड़ी महिलाओं का पुनर्वास

बलिया :शराब के धंधे से जुड़ी महिलाओं का पुनर्वास

rehabilitation_1483290844-1
सराहनीय कदम बलिया पुलिस कप्तान का

महिलाओं का उत्साह वर्धन करते डीएम गोविंद राजू एनएस तथा एसपी वैभव कृष्ण।
थाना क्षेत्र के दयाछपरा गांव में वर्षों से बिक रही अवैध शराब को बंद करने और इस कार्य जुड़ी महिलाओं का पुनर्वास किया जाएगा। इस महिलाआें को स्वरोजगार तथा स्वालंबी बनाने के उद्देश्य से डीएम और पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण की पहल पर प्राथमिक विद्यालय दयाछपरा के प्रांगण में नए साल के पहले दिन इस प्रोजेक्ट उत्थान चौपाल लगाई गई। जिसमें महिलाओं को विभिन्न प्रकार का प्रशिक्षण देकर स्वयं सहायता समूह से जोड़ा गया।
जिलाधिकारी गोविंद राजू एनएस ने कहा कि समूह से गांव की महिलाओं को धनोपार्जन के साथ अपने बच्चों के भविष्य को उज्ज्वल करने का मौका मिलेगा। इस कार्य में समूह को सरकार से ऋण उपलब्ध होगा। स दौरान 12-12 महिलाओं का आठ समूह बनाया गया। जिसमें 96 महिलाएं लाभांवित होंगी।डीएम ने चौपाल के माध्यम से ग्राम प्रधान को निर्देशित किया कि सरकार द्वारा जीपीडीपी योजना के अंतर्गत ग्राम में खुली बैठक कर पात्रों का चयन किया जाय। पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने चौपाल में उपस्थित महिलाओं से सीधा संवाद करते हुए कहा कि आप अपने घर व पड़ोस में ऐसा कोई कार्य न होने दें।

जिससे गांव में पुलिस को आना पड़े। गांव को आदर्श बनाएं। कहा नए वर्ष में सभी शपथ लें कि गांव को एक आदर्श गांव बनाएंगे। अंत में जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त रूप से ग्राम सभा के अति निर्धन महिलाओं को कम्बल वितरण किया। इस मौके पर एएसपी रामयज्ञ यादव, बांसडीह सीओ रामलखन सरोज, कई थानाध्यक्ष, समाजसेवी संजय मिश्र, विद्यासागर दुबे, मनोरंजन राव आदि मौजूद रहे। संचालन पूर्व जिला पंचायत सदस्य मनोज कुशवाहा ने किया।

उधर, ग्राम पंचायत दयाछपरा सहित क्षेत्र के समाजसेवी व प्रबुद्ध लोगों ने डीएम और एसपी की पहल को सराहनीय बताया। कहा प्रशिक्षित होकर महिलाएं स्वालम्बी बनेंगी और अपने परिवार का भरण-पोषण कर सकेंगी। दयाछपरा में प्रोजेक्ट उत्थान चौपाल में नेहरू युवा मंडल रेवती के अध्यक्ष संतोष तिवारी के नेतृत्व में गांव की महिलाओं को अनुदेशक हरिशंकर वर्मा व अंजू तिवारी ने प्रशिक्षण दिया। जिसमें अगरबत्ती, रूहब्जा, टमाटर जेली आदि बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। एनजीओ संचालक संतोष तिवारी ने बताया कि जिला अधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक ने संयुक्त रूप से इस अभियान को चलाया था, एसपी वैभव कृष्‍ण के स्थानांतरण के बाद नवागत एसपी इस काम में सहयोग करेंगे।