ब्रिटेन के मंदिरों में ‘चर्बी वाले पाउंड’ को नो

ब्रिटेनimg_20161206085053 में कुछ Hindu temples ने 5 pounds के नए नोट का चढ़ावा चढ़ाने पर Interdiction लगाने का फैसला किया है। यह फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि उसमें ऐनिमल फैट का यूज किया गया है। साउथ इंग्लैंड स्थित हेर्टफोर्डशायर में प्रधान हरे कृष्ण मंदिर भक्तिवेदांत मैनॉर ने एक तस्वीर फेसबुक पर डाली है, जिसमें लिखा है, ‘हम 5 पाउंड का नया नोट स्वीकार नहीं करते, क्योंकि इसमें ऐनिमल फैट का इस्तेमाल किया गया है। असुविधा के लिए खेद है।’ 

गौरतलब है कि हिंदू संगठनों के मंच हिंदू फोरम ऑफ ब्रिटेन (एचएफबी) ने बीते वीकेंड एक बयान जारी कर कहा कि वे लोगों से अपील कर रहे हैं कि वे इस नए नोट को वापस लिए जाने के लिए हस्ताक्षर अभियान चालाएं और दान में इसका प्रयोग न करें। इस नोट को हटाने की मांग वाली सार्वजनिक याचिका पर अब तक करीब 1,30,000 हस्ताक्षर हो चुके हैं। डेढ़ लाख हस्ताक्षर हो जाने पर इसे बैंक ऑफ इंग्लैड को दिया जाएगा।
आमतौर पर भक्त जब भी मंदिर जाते है तो अपनी इच्छा के अनुसार कुछ दान देते है, लेकिन हाल ही में ब्रिटेन के सबसे बड़े हिन्दू मंदिरों में से एक अपने यहाँ आने वाले भक्तों से अनुरोध किया है कि कोई मंदिर में पांच पाउंड के नये नोट दान में नहीं करे। दरअसल मंदिर ने यह अनुरोध पांच के नोट में पशुओं की चर्बी के अंश होने की बात सामने आने के बाद किया है।
बता दें कि कुछ दिनों पहले बैंक आफ इंग्लैंड ने इस बात की पुष्टि की थी कि पांच पाउंड के नोटों में चर्बी के अंश हैं. ऐसे में लीसेस्टर में सनातन मंदिर ने भक्तों से दान में नये नोट नहीं देने का अनुरोध किया। इस बारे में मंदिर प्रमुख विभूति आचार्य ने कहा कि 5 pounds  के नये नोट में चर्बी के अंश होने से हिन्दुओं के बीच नाराजगी है। उन्होंने कहा कि मंदिर की समिति इन नोटों पर प्रतिबंध पर विचार कर रही है।