जिम्‍नास्‍ट दीपा ने लौटाई ‘भगवान’ की कार, वजह सुन हो जाएंगे हैरान…

रियो ओलंपिक में शानदार प्रदर्शन करने वाली जिम्‍नास्‍ट दीपा कर्माकर ने सचिन तेंदुलकर के हाथों गिफ्ट में मिली बीएमडब्ल्यू कार लौटा दी है। खबर के मुताबिक, दीपा ने यह फैसला खराब सड़कों और मेंटेनेंस का हवाला देकर कार के बदले कैश मांगा था।

दीपा की मांग को हैदराबाद डिस्ट्रिक्ट बैडमिंटन एसोसिएशन ने स्‍वीकार करते हुए उन्‍हें कैश उपलब्‍ध कराया था । 25 लाख कैश मिलने पर दीपा ने दूसरी कार खरीद ली है, जिसका सर्विस सेंटर उनके शहर में है। रियो ओलिंपिक में शानदार परफॉर्मेंस के लिए दीपा के साथ मेडल विनर्स को बतौर इनाम में बीएमडब्ल्यू दी गई थी।

शहर में नहीं था सर्विस सेंटर…1470722286-1

इस मामले में दीपा के कोच बिश्वेश्वर नंदी ने बताया कि दीपा ने दूसरी कंपनी की कार खरीद ली है, जिसका सर्विस सेंटर उनके शहर में है। बीएमडब्‍लू  का सेंटर अगरतला में नहीं था।

दीपा के परिजनों का कहना है कि दीपा ने बीएमडब्‍लू नहीं लेने का फैसला किया था। हमारे यहां पहाड़ी इलाका होने से इसका मेंटेनेंस पॉसिबल नहीं है। कोई दिक्कत आई तो ठीक कराना भी मुश्किल होगा।

इसके बाद कोच बिश्वेश्वर नंदी ने कार गिफ्ट करने वाले हैदराबाद डिस्ट्रिक्ट बैडमिंटन एसोसिएशन के प्रेसिडेंट चामुंडेश्वरनाथ से बात की। वे कैश देने को राजी हो गए थे।

रियो में प्रदर्शन के लिए मिली थी कार

सचिन ने सितंबर में रियो ओलिंपिक में मेडल विजेता पीवी सिंधु, जिम्‍नास्‍ट दीपा कर्माकर, रेसलर साक्षी मलिक और सिंधु के कोच पुलेला गोपीचंद को सम्मानित किया था।

 चारों को हैदराबाद डिस्ट्रिक्ट बैडमिंटन एसोसिएशन के प्रेसिडेंट चामुंडेश्वरनाथ की ओर से बतौर इनाम बीएमडब्‍लू कारें दी गई थीं।

बता दें कि सिंधु ने सिल्वर और साक्षी ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था। वहीं, जिम्नास्टिक के प्रोडुनोवा इवेंट में दीपा चौथी पोजिशन पर रही थीं।

ओलिंपिक में शामिल होने वाली भारतीय महिला जिम्‍नास्‍ट

120 साल के ओलिंपिक में पहली बार कोई भारतीय जिम्‍नास्‍ट फाइनल में पहुंचा था। रियो ओलिंपिक में जिम्नास्टिक में दीपा चौथी पोजिशन पर रही थीं।

बता दें कि दीपा भारत की ओर से ओलिंपिक में जाने वाली पहली महिला जिम्‍नास्‍ट हैं।