आशा कार्यकर्ता के घर बदमाशों ने की लूटपाट

स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के नटौली गांव में गुरुवार की रात नकाबपोश बदमाशों ने आशा कार्यकर्ता के घर में धावा बोलकर नकदी समेत लाखों का माल लूट लिया। विरोध करने पर आशा कार्यकर्ता और उनकी सास की पिटाई कर घायल कर दिया। रात में सूचना मिलते ही कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। लेकिन बदमाश फरार हो चुके थे। 
hope-home-worker-accused-of-looting_1483126374नटौली गांव निवासी संतोष कुमार यादव हरियाणा में नौकरी करते हैं। परिवार में उनकी मां इंद्रावती देवी, पत्नी अनीता यादव, बच्चे मुस्कान, शिवम, साक्षी रहते हैं। पिछले एक सप्ताह से रिश्तेदार आजमगढ़ निवासी  लालचंद की पुत्री तमन्ना भी यहीं रह रही थी।
रात में खाना खाने के बाद सभी सदस्य सो रहे थे। करीब 12:30 रात में बजे छत के रास्ते से घर में घुसे बदमाशों ने कमरे के बाहर बैठक में सो रही वृद्धा इंद्रावती (65) की डंडे से पिटाई कर घायल कर दिया। शोरगुल सुनकर कमरे से बाहर निकली अनीता ने बदमाशों को देखकर पुन: कमरे में घुसकर दरवाजा बंद करना चाहा।

लेकिन वह सफल नही हो सकी। बदमाशों ने अनीता की पिटाई करते हुए उसके गले से सोने की चेन, कान से बाली, कंगन उतारने के बाद कमरे में रखी आलमारी को तोड़कर उसमें रखे गहने व दस हजार रुपए अपने कब्जे में लेकर सभी को कमरे में बंद कर दिया। दूसरे कमरे में रखे बक्से की कुंडी तोड़कर कीमती सामान लूटने के बाद भाग निकले।

 बदमाशों के जाने के बाद पीड़िता ने पुलिस को 100 नवंबर पर सूचना दी। मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गयी। शुक्रवार की तड़के पहुंची डाग स्क्वायड व विधि विज्ञान प्रयोगशाला की टीम ने जांच शुरू किया।

डाग स्क्वायड ने बदमाशों द्वारा छोड़े गये गमछे की गंध सूंघते हुए दो किमी. दूर मान्यवर काशीराम आवास तक पहुंचकर एक मकान के पास ठिठक गया। पुलिस ने वहां पर मौजूद एक युवक समेत  दो को हिरासत में लेकर पूछताछ में जुटी है। गंभीर रूप से घायल इन्द्रावती देवी को उपचार के लिए राजकीय पुरुष चिकित्सालय लाया गया जहां से चिकित्सकों ने जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया।