Tuesday , June 14 2022
Home / पूर्वांचल / गोरखपुर / सिपाही बनकर मुनीम से 5.20 लाख के गहने लूटे

सिपाही बनकर मुनीम से 5.20 लाख के गहने लूटे

crime_1482956696शहर के भीड़ भाड़ वाले इलाके और घंटाघर चौकी के चंद कदम की दूरी पर सिपाही बनकर बाइक सवार दो बदमाशों ने गहने लूटकर पुलिस को चुनौती दे दी है। देवरिया के बड़े सर्राफा कारोबारी के मुनीम 5.20 लाख के गहने की खरीददारी कर देवरिया लौट रहे थे। रास्ते में बाइक सवार दो बदमाशों पहुंचे और खुद को सिपाही बताते हुए तलाशी लेने की बात कही। मुनीम ने विरोध किया तो पुलिस के अंदाज में ही डांटने लगे और चंद मिनट में ही झोला हाथ छीनकर फरार हो गए। सूचना मिलते ही एसपी सिटी हेमराज मीणा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। मुनीम के मुताबिक लुटेरों के भागने वाले रास्ते पर एक कपड़ा व्यवसायी के यहां लगे कैमरे से लुटेरों के पहचान की कोशिश की जा रही है। 
देवरिया सदर के व्यापारी संतोष वर्मा के मुनीम सुनील कुमार गोरखपुर सर्राफा मंडी में खरीददारी करने आए थे। बुधवार की शाम को घंटाघर के थोक व्यवसायी राजकुमार मिश्रा की दुकान से 190 ग्राम सोना खरीदने के बाद वह पैदल ही निकले। एसबीआई माया बाजार ब्रांच के पास पहुंचे दो युवकों ने उन्हें रोका और खुद को सिपाही बताया। मुनीम ने बंदूक न होने की बात कहते हुए आईडी दिखाने को कहा। इस पर फटकार लगाते हुए तलाशी लेने की बात कही और झोला हाथ में ले लिया। मुनीम ने उन्हें रोका तो वह धकेलते हुए झोला लेकर फरार हो गए। उन्होंने तुरंत ही इसकी सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। सूचना पाते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। रास्ते में एक कपड़ा व्यापारी के सीसी टीवी कैमरे की मदद से लुटेरों के पहचान की कोशिश की जा रही है। बताया जा रहा है कि पुलिस को अहम सुराग हाथ भी लग गए हैं। मुनीम सुनील कुमार पुराना बस अड्डा देवरिया का रहने वाले हैं।