Monday , June 13 2022
Home / राष्ट्रीय / बोले PM MODI, बेईमानों की बरबादी तय, डेडलाईन @30 दिसंबर

बोले PM MODI, बेईमानों की बरबादी तय, डेडलाईन @30 दिसंबर

2016_12largeimg25_dec_2016_074325712मुंबई /पातालगंगा : बेईमानों की 30 दिसंबर के बाद परेशानी बढ़ने की चेतावनी देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि राष्ट्रहित में कठिन निर्णय लेने से आगे भी नहीं हिचकिचायेंगे. इसके साथ ही उन्होंने पूंजी बाजारों से अधिक कर योगदान पर जोर दिया. मोदी ने बेईमानों से कहा कि वह भ्रष्टाचार के खिलाफ देश के मूड को कम नहीं आंकें. नोटबंदी से कुछ समय के लिए दर्द है, लेकिन भविष्य में इसके कई लाभ भी होंगे. मोदी ने शनिवार को मुंबई में दो और पुणे में एक सार्वजनिक कार्यक्रम को संबोधित किया.  बांद्रा-कुर्ला परिसर में एमएमआरडीए ग्राउंड में पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी एक स्वच्छता अभियान है.

पचास दिन बाद ईमानदार लोगों की परेशानियां कम होंगी. बेईमान लोगों की बढ़ेगी. कालाधन व भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जब तक जीत नहीं जाते तब तक यह जारी रहेगी.  यह सामान्य लड़ाई नहीं है. पिछले 70 वर्षों में जिन लोगों ने भ्रष्टाचार से लाभ उठाया, वे नोटबंदी को विफल करने में जुटे हैं. लेकिन, ऐसे लोगों को सोचना चाहिए कि वक्त बदल गया है. 30 वर्षों के अंतराल पर पूर्ण बहुमत की सरकार सत्ता में है. विश्वास रखें देश बदलेगा, आगे बढ़ेगा. इससे पहले पातालगंगा में सेबी के एक कार्यक्रम में पीएम मोदी ने कहा कि सरकार आनेवाले समय में देश के उज्ज्वल भविष्य के लिए मजबूत आर्थिक नीतियों को आगे बढ़ाती रहेगी.

अपने 30 माह के कार्यों की चर्चा करते हुए कहा कि जब सत्ता संभाली थी, तब अर्थव्यवस्था काफी खराब थी. तमाम परेशानियों के बीच काफी सुधार किया है. आज भारत सुस्ती से जूझ रही दुनिया में एक आकर्षक चमकता स्थान है. जीएसटी के मुद्दे पर कहा कि देश का यह सबसे बड़ा टैक्स सुधार जल्द ही वास्तविकता बनेगा. यह भी कहा कि बजट को तय समय से पहले पेश करने से अर्थव्यवस्था में सुधार आयेगा. अगले साल बजट संभवत: एक फरवरी को पेश किया जायेगा. सेबी की भी सराहना करते हुए मोदी ने एक मजबूत बांड बाजार की आवश्यकता को रेखांकित किया. 

पुणे में मोदी ने कहा कि हमने अर्बन मिशन शुरू किया है, जिसमें उन गांवों को विकसित किया जायेगा, जो शहर के काफी करीब हैं. डिजिटल इंडिया में गांवों को भी शामिल किया जा रहा है. उन्होंने कहा, जो लोग सोच रहे थे कि बैंकों में पैसा जमा कर देने से सफेद हो जायेगा, वे पकड़ में आ रहे हैं.

शिवाजी स्मारक@ रुपये 3600 करोड़ : पीएम ने मुंबई तट पर दुनिया के सबसे बड़ी स्मारक शिवाजी महाराज की आधारशिला रखी. कहा : मैं महाराष्ट्र सरकार का आभारी हूं कि मुझे शिवाजी महाराज का जल पूजन करने का मौका मिला. 15 एकड़ के द्वीप पर प्रस्तावित स्मारक समंदर के किनारे से डेढ़ किमी अंदर होगा. यहां शिवाजी की 192 मीटर लंबी प्रतिमा होगी. इस पर कुल 3600 करोड़ की लागत आयेगी.

खजाने में योगदान बढ़ाएं वित्तीय बाजार 

 पीएम मोदी ने पूंजी बाजार भागीदारों को टैक्स के जरिये योगदान बढ़ाने पर जोर दिया. कहा कि जो लोग वित्तीय बाजारों से मुनाफा कमाते हैं, उन्हें टैक्स के जरिये देश के निर्माण में योगदान करना चाहिए. हमें इसे उचित, दक्ष और पारदर्शी ढंग से बढ़ाने के तौर तरीकों पर विचार करना होगा.

म्युनिसिपल बांड जारी हो 

सेबी व वित्त मंत्रालय से कहा कि वह स्थानीय निकायों को भी पूंजी बाजार से धन जुटाने में मदद करें. स्थानीय निकायों के बांंड बाजार नहीं होने पर निराशा जतायी. सेबी व वित्त मंत्रालय एक साल में कम से कम 10 शहरों के स्थानीय निकाय ‘म्युनिसिपल बांड’ जारी करें.