पोती ने प्रेमी संग की थी हत्या

21_06_2016-child_crimeरूद्दी गांव में वृद्धा रजवतिया देवी की हत्या  उसकी रिश्तेे की पोती ने प्रेमी ने मिलकर की थी। इतना ही नहीं पिता ने भी बेटी को बचाने के लिए उसका साथ दिया और लाश को छुपा दिया था। गुरुवारको मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने दो व्यक्तियों को गिरफ्तार कर संबंधित धाराओं में चालान कर दिया। किशोर पोती को भी पकड़कर सुधार गृह भेजा गया है।
 
इस मामले में मृतका की पुत्री व मऊ के घोसी थाना क्षेत्र के पहाड़पुर निवासी शकुंतला देवी पत्नी श्रीकिशुन यादव ने भीमपुरा थाने में अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया था। 16 दिसंबर को रूद्दी गांव में वृद्धा रजवतिया देवी की हत्या कर दी गई थी। जबकि उसकी लाश तीन दिन बाद सोमवार को उसके घर में ही छिपाई मिली थी।

रजवतिया देवी की दो पुत्रियां ही थी, जिनकी शादी हो चुकी है। वृद्धा का कोई पुत्र नहीं था, इसलिए वह अपने भतीजे देवेंद्र यादव के साथ ही रहती थी। गुरुवार को घटना की खुलासा करते हुए भीमपुरा एसओ राजनाथ यादव ने बताया कि थाना क्षेत्र के रूद्दी गांव निवासी मुख्य अभियुक्त सतेंद्र राजभर तथा सगे भतीजे देवेंद्र यादव को गिरफ्तार कर चालान कर दिया गया है।

वहीं पोती के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त कुल्हाड़ी भी बरामद की गई। पोती को सुधार गृह भेजा गया है। पुलिस की पूछताछ में अभियुक्त सतेंद्र ने बताया कि किशोरी से डेढ़ वर्ष से मेरा प्रेम प्रसंग चल रहा है। 16 दिसंबर 2016 को रात करीब आठ बजे मैं किशोरी से मिलने आया था। रजवतिया देवी ने हम दोनों को देख लिया और गालियां देने लगीं।

मैंने लोक लाज की वजह से रजवतिया का गला दबा दिया। तभी प्रेमिका ने बगल में मौजूद कुल्हाड़ी से अपनी दादी के चेहरे पर वारकर लहूलुहान कर दिया। जिससे उसकी मौत हो गई। इसके बाद मैं डर के मारे वहां से भाग गया। उधर, किशोरी ने पूछताछ में बताया कि दादी के चेहरे से खून बह रहा था। जिसे मैंने साफ किया और सोने चली गयी।

जब सुबह पापा ट्यूबवेल से आकर आवाज लगाने लगे तो मैंने उन्हें सारी बात बताई। पापा ने लाश को उठाकर ओसारे में बोरे में रख दिया। रजवतिया के भतीजे ने बताया कि बेटी को बचाने के लिए मैंने लाश को छुपा दिया था ताकि मौका पाकर इसे कहीं और ठिकाने लगा देता।