बिना सड़क निर्माण करोड़ो का भुगतान

बलिया।मुरलीछपरा विकास खंड के विभिन्न गांवों में पिछले पांच वर्षों में सांसद व विधायक निधि से प्रस्तावित कार्यों में बिना कार्य कराए करोड़ों रुपये के भुगतान का मामला प्रकाश में आया है।

विदित हो कि कार्यों का निर्माण विकासखंड के ग्रामीण अभियंत्रण विभाग से कराया जाना था। संबंधित विभाग के अवर अभियंता व संबंधित ठेकेदारों की मिलीभगत से बिना कार्य कराए ही भुगतान कराए जाने का आरोप है। बावजूद इसके इन आरोपों की जांच जिला प्रशासन द्वारा नहीं कराया जा रहा है।

सांसद निधि योजना 2012-13 के अंतर्गत मुरलीछपरा के धतुरी टोला गांव में मुख्य सड़क से सचिवालय होते हुए बरमेश्वर ¨सह के मकान तक सीसी रोड के निर्माण के लिए निधि से पांच लाख बीस हजार रुपये जारी हुए थे। इसका शिलान्यास लोक निर्माण विभाग के अवर अभियंता अंगद ¨सह कुशवाहा व तत्कालीन खंड विकास अधिकारी मीना गौतम की उपस्थिति में पांच वर्ष पूर्व तत्कालीन सांसद द्वारा की गई थी। उक्त सड़क के निर्माण के नाम पर अभी तक साढ़े तीन लाख रुपये का भुगतान विकास खंड कार्यालय द्वारा कर दिया गया है जबकि मौके पर एक इंच भी सड़क का निर्माण कार्य नहीं हुआ है। धतुरी टोला के ग्रामीण रोज यह प्रतीक्षा कर रहे कि आज सड़क बनेगी तो कल बनेगी। ऐसे में ग्रामीणों ने सांसद व जिलाधिकारी का ध्यान इस तरफ आकृष्ट कराते हुए जांच व कार्रवाई की मांग की है।

इस बाबत मुरलीछपरा के तत्कालीन अवर अभियंता अंगद सिंह कुशवाहा से जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि जल्द ही उक्त सड़क का निर्माण कराया जाएगा।