अब दवाईयां नहीं प्याज की चाय से दूर होगा डायबिटीज

आपने आज तक कई तरह की चाय और उससे होने वाले फायदों के बारे में लोगों से सुना होगा पर क्या आपने कभी प्याज की चाय पी है…अगर नहीं तो आज ही ट्राई करें।  ये चाय न सिर्फ डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद है बल्कि पेट को भी दुरुस्त रखने का भी एक रामबाण इलाज है। आइए जानते हैं क्या है इसे बनाने का तरीका। अब दवाईयां नहीं प्याज की चाय से दूर होगा डायबिटीज

सेहत ही नहीं खूबसूरती निखारने के लिए भी लोग प्याज का इस्तेमाल करते हैं। प्‍याज खाने से कब्‍ज की समस्‍या, कोलेस्ट्रॉल, एनीमिया से तो राहत मिलती ही है पर क्या आप जानते हैं कि इसकी चाय पीने से शुगर लेवल भी कंट्रोल होता है। इसकी चाय बनाने के लिए प्‍याज गहरे बैंगनी रंग के ही होने चाहिए क्योंकि सफेद रंग की प्‍याज का कोई असर नहीं पड़ता। 

 
चाय बनाने का तरीका-
प्याज की चाय बनाने के लिए सबसे पहले एक प्याज को अच्छी तरह से धो कर बारीक काट लें।
-प्याज काटने के बाद इसे 10 मिनट तक कटा हुआ छोड़ दें।
-इसके बाद एक बर्तन में पानी गरम कर लें। ध्यान रखें कि पानी गरम करना है पर उबालना नहीं है। फिर गरम पानी में कटी प्‍याज डालकर 15 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें। -आपकी प्याज की चाय बनकर तैयार है। इसे छानकर पी लें। 
 
लाभ-
-प्याज की चाय पीने से धमनियों में रक्त का थक्का नहीं बनता। जिसकी वजह से व्यक्ति हाइपरटेंशन के खतरे से दूर रहता है।
-प्याज की चाय पीने से अनिद्रा की बीमारी से काफी हद तक राहत मिलती है।
– प्‍याज में काफी ज्‍यादा फाइबर होता है जो कि कोलोन को साफ करने में मदद करता है। इसके अलावा इसमें मौजूद फाइबर आंत से टॉक्सिन्स बाहर निकालने में मदद करते हैॆं।
-एक अध्ययन के अनुसार प्याज ग्लूकोज प्रतिक्रिया को बेहतर करके इन्सुलिन रेजिटेंट को बढ़ाकर टाइप-2 डायबिटीज में राहत दिलाने में मदद करता है। प्‍याज की चाय फ्री रेडिकल्स को नष्ट करने में मदद करती है।
-इन दिनों मौसम बदलने की वजह से लोंगो को सर्दी जुखाम काफी हो रहा है। प्याज में विटामिन सी के अलावा ऐसे कई औषधिय गुण हैं जो बाहरी सक्रंमण को दूर कर सर्दी-जुकाम से भी बचाते हैं।

नोट- इस चाय का सेवन प्रेगनेंट महिलाओं और दूध पिलानेवाली माताओं को नहीं करना चाहिए।