झोला छाप डाक्टर ने लेली किसान की जान

बलिया।नगर पंचायत बाँसडीह वार्ड नम्बर 14 निवासी बड़क चौहान (35)की झोला छाप डाक्टर से इलाज के दौरान इंजेक्शन लगाने के बाद मौत होने से स्थानीय लोगो में आक्रोश व्याप्त है।पुलिस लाश को कब्जे में लेकर छानबीन में जुट गई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार बाँसडीह नगर पंचायत के फतेसागर पोखरा स्थित भीटा निवासभड़क चौहान धान की कटाई करते समय हसिए से पंजा की अंगुली काट गई।अंगूली की इलाज कराने बांसडीह बाजार स्थित डाक्टर स्व हरिहर सिंह की क्लिनिक से मरहम-पट्टी कराकर घर जा रहे थे।रास्ते में अचानक तबियत बिगड़ गई जिससे चौहान की मौत हो गईं।स्थानीय लोगो का आरोप है कि क्लिनिक में एक्सपायरिंग इंजेक्शन लगाने की वजह से बड़क चौहान की मृत्यु हुई है, लिहाजा डाक्टर के खिलाफ 302 का मुकदमा दर्ज करके जेल भेजा जाए और पीड़ित परिवार को मुआवजा मिले।
बड़क चौहान खेती मजदूरी करके पांच बच्चों को पाल रहा था।उसकी अचानक मौत से उसके परिवार के सामने भुखमरी की समस्या पैदा हो गईं है।
स्थानीय नेता कुलदीप पटेल ने मांग की है कि डा राजेश सिंह के खिलाफ 302 का मुकदमा दर्ज करके जेल भेजा जाए,और पीड़ित परिवार को 20 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाए।