यूपी में 3 अकटूबर से शुरू हो गईं जमीनों की ऑनलाइन रजिस्ट्री

.
उत्तर प्रदेश में 2 अकटूबर तक छुट्टी होने की वजह से ऑनलाइन जमीन की रजिस्ट्री 3 अकटूबर से शुरुआत हो गई। अब आप घर बैठे जमीन की खरीद विक्री कर् सकेंगे। इससे करप्शन पर लगाम लगने के साथ ही प्रदेश की जनता को दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।

सरकारी दफ्तर में ई-ऑफिस होंगे…

सरकारी कामकाज में पारदार्शिता लाने के लिए ये कदम उठाया जा रहा है। साथ ही सरकारी फाइलें अब डिजीटल रूप में ही होंगी। ये व्यवस्था भी 1 अक्टूबर से लागू किया कर दिया गया।
ऐसे होगी ऑनलाइन रजिस्ट्री 
जमीनों की रजिस्ट्री के लिए अब आपको सब रजिस्ट्रार के कार्यालय के चक्कर नहीं काटने होंगे और न ही बाबुओं को रिश्वत देनी होगी. पासपोर्ट की तर्ज पर घर बैठे कार्यालय में रजिस्ट्री की तारीख मिल जाएगी. आपको बस संबधित तिथि में सब रजिस्ट्रार कार्यालय पहुंचकर अपनी रजिस्ट्री करानी होगी. इस प्रॉसेस में रजिस्ट्री से संबंधित अधिकतर काम 1 अक्टूबर से ऑनलाइन ही किए जा सकेंगे.
इस तरह कराएं ऑनलाइन रजिस्ट्री, मैसेज से मिलेगी जानकारी 
बता दें कि किसी प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री से पहले खरीदार को ऑनलाइन आवेदन करना होगा. आवेदन में खरीदार जो ऑनलाइन जानकारी देगा, उसके आधार पर स्टांप ड्यूटी भी तत्काल तय हो जाएगी. वहीं आवेदक ऑनलाइन स्टांप फीस जमा करवा सकता है. आवेदन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद पासपोर्ट की तर्ज पर रजिस्ट्री के लिए एक तारीख (अपॉइंटमेंट) मिल जाएगी. वहीं आवेदक को एसएमएस के जरिए इसकी जानकारी मिल जाएगी. तय तारीख और समय को सब- रजिस्ट्रार के सामने उपस्थित होकर रजिस्ट्री करवाई जा सकेगी. ऑनलाइन स्टांप खरीदने पर खरीदार को एक कोड मिलेगा. इस कोड को संबंधित तिथि पर सब रजिस्ट्रार के सामने पेश करना होगा.