लखनऊ कानू महासभा ने गणिनाथ जयंती शनिवार को नही, रविवार को मनाई खूब हुई आलोचना

पूरे देश में मद्धेशिया (कांनू) समाज के कुलगुरु बाबा गणिनाथ महाराज की जयंती शनिवार को बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाई गई,लेकिन लखनऊ कानू महासभा के अध्यक्ष रामाकांत गुप्ता के नेतृत्व में रविवार को गणिनाथ जयंती मनाए जाने से समाज के लोगो ने खूब आलोचना किया और नाराजगी जताई।लोगो का आरोप था कि सभी समाज के लोग अपने कुल गुरु की जयंती एक तिथि को मनाते है तो फिर कानू समाज ऐसा क्यों नही एक दिन ही मनाता।

इस अवसर पर अखिल भारतीय मद्धेशीय वैश्य कांदू महासभा के बैनर तले यूपी,बिहार,झारखंड और आसाम में बाबा की जयंती मनाई गई और कई शहरों में भव्य शोभा यात्रा निकाली। अम्बेडकर नगर में शोभायात्रा के बाद नगर के एक महाविद्यालय में गोष्ठी का आयोजन किया गया। समाज के वरिष्ठजनों को सम्मानित किया गया।

लखनऊ में गांघी भवन में कार्यक्रम की शुरुआत हवन-पूजन के साथ की गई, जिसके बाद वक्ताओं ने बाबा की जीवनी पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर मुख्य रूप से बलरामपुर अस्पताल के वरिष्ठ नेत्र सर्जन संजीव गुप्ता, राजा गुप्ता राजघराना,राजेंद्र गुप्ता,अरविन्द गुप्ता और इंजीनियर विनोद गुप्ता सहित लखनऊ और बाराबंकी से  बड़ी संख्या में कानू समाज के लोगों ने हिस्सा लिया। 

बलिया जिले में शनिवार को सन्त गणिनाथ जयंती धूम-धाम से मनाई गई।कार्यक्रम में बड़ी संख्या में समाज के लोगो ने हिस्सा लाया।