बलिया छात्रा हत्याकांड के मुख्य आरोपी सहित दो गिरफ्तार

 

बलिया. बलिया जनपद के रागिनी हत्याकांड में पुलिस ने मुख्यारोपी ग्रामप्रधान के बेटे आदित्य तिवारी और उसके एक सहयोगी को गिरफ्तार कर लिया है। सरेराह हुई इस हत्याकांड को विपक्ष के नेता रामगोविंद चौधरी ने योगी सरकार में बद्द्तर क़ानून व्यवस्था से जोड़ते हुए घटना पर दुःख जताया है।
उल्लेखनीय है कि रागिनी इंटर की छात्रा थी, जो घर से पढ़ने निकली थी। पर रास्ते में में मनचलों ने चाकुओं से गोदकर मौत के घाट उतार दिया।  बलिया जनपद के बांसडीह थाना अंतर्गत बाजहाँ गावं में हुए रागिनी हत्याकांड के मुख्य आरोपी प्रिंस उर्फ़ आदित्य तिवारी और उसके एक साथी राजू यादव को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल चाक़ू भी बरामद कर लिया है।  पुलिस के मुताबिक़ इस हत्याकांड के पीछे प्रेम प्रसंग का मामला था। जिसमें व बेवफाई की वजह से ग्रामप्रधान के बेटे ने सरे राह रागिनी को मौत दे दी। हालांकि इस मामले में तीन आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।

दिनदहाड़े एक छात्रा की हत्या से हर कोई गुस्से में है। वहीं मृतका रागिनी की बहनों का कहना है कि, ग्राम प्रधान का बेटा कई महीनों से धमकी दे रहा था। यही नहीं आरोपी प्रिंस अक्सर उनके घर के बाहर अक्सर लड़कों के साथ बैठा रहता और जब भी घर की लड़किया बाहर निकलती उनपर फब्तियां कसता।
रागिनी हत्याकांड ने प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा पर सवाल खड़ा कर दिया है। एक तरफ जहा योगी सरकार एंटी रोमियो दाल के जरिये लड़कियों को सुरक्षा देने का दावा कर रही है। वहीं रागिनी जैसी लड़कियां मनचलों के चाकुओं का शिकार होकर दम तोड़ रही हैं। इस घटना से हर कोई दुखी है और योगी सरकार में क़ानून वयवसथा चौपट होने का आरोप लगा रहा है। जानकारी के अनुसार, छेड़खाऩी के कारण छात्रा ने बीच में पढ़ाई छोड़ दी थी।