मतदाता सूची पुनर्निरीक्षण के बाद होगा निकाय चुनाव,पुरानी सूची में मिली थी गड़बड़ी की शिकायत

वाराणसी। उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव अब समय पर नही होगा इसका संकेत सीएम साहब संकेत दे दिए ।पुराने मतदाता सूची में गड़बड़ी की शिकायत मिलने के बाद सरकार ने यह फैसला लिया है।

अब लगभग तय है क़ि जुलाई बाद निकाय प्रशासक के हवाले हो जाएगा।सरकार का मानना है कि  पुराने मतदाता सूची में भरी गड़बड़ी है।जिसको दुरुस्त कराए बिना निष्पक्ष चुनाव सम्भव नही है।इस गड़बड़ी को दुरुस्त करने के संकेत दे दिए गए है।

वाराणसी के सर्किट हाउस में रात जनप्रतिनिधियों व पदाधिकारियों की बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि निकाय चुनाव के मद्देनजर वर्तमान में जो पुनरीक्षित मतदाता सूची जारी हुई है, उसमें भारी गड़बड़ी की गई है। सूची में हजारों मतदाताओं के नाम गायब हैं। अब मौका मिला है, आप लोग मतदाता सूची को दुरुस्त करवाएं और घर-घर जाकर छूटे नाम दर्ज कराएं। योगी ने कहा कि निकाय चुनाव में जीत के संकल्प के साथ मैदान में उतरें। इसके लिए नगर विकास की योजनाओं को गति दिलाने के साथ ही जनता तक पहुंचाने की कवायद में पुरजोर जुट जाएं। मुख्यमंत्री ने संकेत दिए कि 15 दिनों के अंदर लेवल टू व थ्री के अफसरों की लिस्ट जारी कर उनके तबादले की कार्यवाही शुरू हो जाएगी। इसमें नगर निगम, शिक्षा व जल निगम विभाग के अफसर प्रमुख रूप से होंगे। उन्होंने कहा कि यह पहली बार हो रहा है कि विकास योजनाओं की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री के साथ जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे जिससे योजना की प्राथमिकता व प्रगति की जानकारी होगी जिसके सापेक्ष योजनाओं की निगरानी कर सकेंगे।