सीरिया-नॉर्थ कोरिया मुद्दे पर हुई ट्रंप-पुतिन में बातचीत, जुलाई में मिल सकते हैं दोनों नेता

सीरिया और नॉर्थ कोरिया के मुद्दे से गरमा रही विश्व की राजनीति को थोड़ा शांत करने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बात की. व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि अमेरिकी और रूसी राष्ट्रपति इस बात पर सहमत हो गये हैं कि अब सीरिया के गृहयुद्ध को खत्म करने के लिए हरसंभव कोशिश करने की जरुरत है. आपको बता दें कि सीरिया में हमले के बाद यह पहली बार है कि दोनों नेताओं में बात हुई है.

पहले किया था विरोध
आपको बता दें कि इससे पहले पुतिन ने अमेरिका द्वारा सीरियाई सैन्यअड्डे पर किए गए हवाई हमले को एक संप्रभु राष्ट्र के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय कानून के नियमों का उल्लंघन करार दिया था. गौरतलब है कि अमेरिका ने सीरिया की असद सरकार द्वारा कथित तौर पर किए गए रासायनिक हमले पर प्रतिक्रिया स्वरूप यह कार्रवाई की थी.

अपनी पिछली बातचीत के दौरान ट्रंप और पुतिन ने आईएसआईएस के खिलाफ ‘वास्तविक समन्वय’ स्थापित करने पर सहमति जताई थी, जिसकी व्हाइट हाउस ने महत्वपूर्ण शुरुआत बताकर प्रशंसा की थी.

आपको बता दें कि सीरिया में केमिकल हमले के बाद अमेरिका की कार्रवाई से पूरी दुनिया सकते में थी. अमेरिका के इस एक्शन से रूस खासा नाराज नज़र आ रहा है, और वह लगातार अमेरिका को आगे से ऐसा ना करने की चेतावनी भी दे रहा था.

इसके अलावा दोनों नेताओं मध्यपूर्व के संकट को लेकर साथ मिलकर सुलझाने और कोरियाई द्वीप के तनाव पर भी बात हुई. रूस ने कहा कि दोनों नेता जुलाई में जर्मनी में होने वाली जी-20 देशों की बैठक के दौरान मुलाकात कर सकते हैं.