हर्ष फायरिंग में बालक की मौत,गुस्साए ग्रामीणों ने घरातियों-बारातियों को धुना

गाजीपुर जिले  के भीखमपुर बिरोहिया गांव में रविवार रात बारात में जयमाल के दौरान हुई हर्ष फायरिंग में एक आठ वर्षीय बालक की मौत हो गई। जबकि छर्रे से एक अधेड़ सहित दो बालक घायल हो गए।
 गुस्साए ग्रामीणों ने घरातियों- बारातियों और नशे में धुत फायरिंग करने वाले युवक की जमकर पिटाई कर उन्हें बंधक बना लिया। बाद में पुलिस सभी को छुड़ाकर थाने ले आई। मृत बालक के पिता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्जकर उसे जेल भेज दिया। उधर, जयमाल में भगदड़ से दुल्हन स्टेज पर ही बेहोश हो गई थी।

नोनहरा थाना क्षेत्र के तिलाड़ी गांव से भीखमपुर बिरोहिया गांव निवासी सुरेश राजभर के घर बारात आई थी। जयमाल के दौरान बारात पक्ष के जगदीशपुर गांव का अवधेश शराब के नशे में धुत हो कर बंदूक से फायरिंग करने लगा।

तभी एक गोली पास ही खड़े संतोष राम के पुत्र ओम कुमार (8) को जा लगी जबकि कुछ छर्रे पिंटू (12), आदित्य (10) और रामदरश (50) को भी लगे। परिवारवाले घायल बालक को इलाज के लिए मऊ ले जा रहे थे कि रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।

गांव में बालक की मौत की जानकारी होते ही ग्रामीण गुस्से में भर गए और बारातियों-घरातियों और आरोपी युवक को बंधक बनाकर उनकी जमकर धुनाई कर दी। लड़की के पिता की सूचना पर पुलिस गांव में पहुंची और घटना स्थल की तरफ जाने लगी तो गुस्साए ग्रामीणों ने उन्हें रोक दिया।

बाद में ग्रामीणों को खदेड़ने के बाद पुलिस ने बंधक बने करीब एक दर्जन बारातियों-घरातियों और आरोपी युवक को छुड़ाया तथा उन्हें थाने ले गई। मृत बालक के पिता संतोष राम की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर सोमवार को उसे जेल भेज दिया।

इस संबंध में एसपी ग्रामीण अनिल सिसोदिया ने बताया कि आरोपी युवक अवधेश कुमार को 12 बोर की बंदूक के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।