भारत-पाकिस्तान सीरीज को लेकर मियांदाद ने लगाया भारत सरकार पर ये बड़ा आरोप

New Delhi : India और Pakistan के बीच जब क्रिकेट मैच की बात आती है तो दोनों ही देशों के क्रिकेट फैंस का उत्साह देखते ही बनता है। मिनिस्टर ऑफ स्टेट होम हंसराज अहीर ने बुधवार को मीडिया से कहा कि जम्मू-कश्मीर के मौजूदा हालात को देखते हुए सरकार पाकिस्तान के सा

img_20170330101014इस बीच पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर जावेद मियांदाद ने कहा कि इंडिया के साथ सीरीज की उम्मीद न रखें। हर बार वो बहाना बनाते हैं। अहीर ने कहा, इस मसले पर होम मिनिस्टर और होम मिनिस्ट्री को फैसला लेना है, लेकिन मुझे लगता है कि इसके लिए J&K के मौजूदा हालात सही नहीं हैं। हमें इसे लेकर बहुत सारे प्रपोजल और लेटर्स मिले हैं, लेकिन आज इंडिया-पाकिस्तान क्रिकेट के लिए माहौल सही नहीं है। रिपोर्ट्स के मुताबिक बीसीसीआई ने होम मिनिस्ट्री को पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलने की परमिशन मांगी थी। बोर्ड का कहना था कि उसे पाकिस्तान के साथ 2014 में साइन किए गए एग्रीमेंट्स को पूरा करना है।
बीसीसीआई 2016 में पाकिस्तान के लिए एक सीरीज होस्ट करना चाहती थी, लेकिन सरकार ने इसे मंजूरी नहीं दी। इंडिया में टेरर अटैक्स और दोनों देशों के बीच तनाव को देखते हुए सरकार ने इनकार कर दिया था।
बीसीसीआई ने एक बार फिर होम मिनिस्ट्री से इंडिया-पाकिस्तान के बीच क्रिकेट की इजाजत मांगी है। बोर्ड का कहना है कि इंडियन टीम दुबई में एक सीरीज खेलना चाहती है। भारत पाकिस्तान पर जम्मू एंड कश्मीर और देश के दूसरे हिस्सों में टेररिज्म को स्पॉन्सर करने का आरोप लगाता रहा है। पाकिस्तान के पूर्व और मौजूदा क्रिकेटर्स ने अपने क्रिकेट बोर्ड को बताया कि वो इंडिया के साथ सीरीज की उम्मीद न रखे।
जावेद मियांदाद ने कहा, वो हमारे इर्द-गिर्द खेलते रहना चाहते हैं, जहां तक बात द्विपक्षीय सीरीज की है, तो उसमें वो बेहद कम इंट्रेस्ट रखते हैं। मीडिया ने मियांदाद से कहा कि बीसीसीआई ने इस साल नवंबर में पाकिस्तान के साथ खेलने के लिए सरकार से मंजूरी मांगी है। इस पर मियांदाद बोले, “वो हर बार कोई बहाना बनाते हैं। ये मौजूदा जाल इसलिए बिछाया गया है, ताकि पाकिस्तान ये मसला अगले महीने होने वाली ICC की मीटिंग में न उठाए।