मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की कैबिनेट में दलित-पिछड़े सभी चेहरे, ये बने मंत्री

योगी आदित्यनाथ ने यूपी के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। उन्हें राज्यपाल राम नाईक ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। उनके साथ 46 अन्य मंत्रियों ने भी शपथ ली। मोहसिन रजा योगी सरकार का एक मात्र मुस्लिम चेहरा हैं। 45 वर्षीय आदित्यनाथ सूबे के 21वें मुख्यमंत्री हैं। वहीं, लखनऊ के मेयर द‌िनेश शर्मा और प्रदेश अध्यक्ष केशव मौर्य ने ड‌िप्टी सीएम के पद की शपथ ली । मोहसिन रजा पूर्व रणजी क्रिकेटर हैं। वो फिलहाल किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं। शपथ ग्रहण समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व सपा संरक्षक अखिलेश यादव भी मौजूद रहे।
 
yogi-adiaynath_1487009142प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्री कैबिनेट मंत्री व भाजपा के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे। समारोह में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। समारोह में भाजपा के वयोवृद्घ नेता लाल कृष्‍ण आडवाणी व मुरली मनोहर जोशी मौजूद रहे।

इन्होंने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली-

– सुरेश पासी राज्यमंत्री बने। वो कांग्रेस के राधेश्याम धोबी को हराकर चुनाव जीते। वो अमेठी की जगदीशपुर सीट से पहली बार विधायक बने।

– संदीप सिंह ने राज्यमंत्री पद की शपथ ली। वो यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के नाती हैं। संदीप सिंह अलीगढ़ अतरौला सीट से विधायक हैं।

– ‌ललितपुर की महरौना सीट से भाजपा विधायक मनोहर लाल पंथ ने राज्यमंत्री पद की शपथ ली। वो मन्नू कोरी के नाम से भी जाने-जाते हैं।

– बलदेव सिंह ओलख ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली। वो रामपुर की बिलासपुर की सीट से चुनाव जीते हैं।

– गिरीश यादव ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली। उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी को हराया।

– योगी सरकार का एक मात्र मुस्लिम चेहरा मोहसिन ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली। वो लखनऊ के रहने वाले हैं और रणजी के खिलाड़ी भी रहे हैं। फिलहाल ‌वो किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं।

– नीलकंठ तिवारी, वाराणसी दक्षिण से विधायक हैं। उन्होंने राज्यमंत्री पद की शपथ ली।

– रणवेंद्र प्रताप सिंह ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली। वो राजपूर समाज से आते हैं।

– अतुल गर्ग ने राज्यमंत्री पद की शपथ ली। वह गाजियाबाद सीट से भाजपा विधायक बने हैं।

– जयकुमार सिंह जैकी ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली। वो अपना दल कोटे से मंत्री बने। वह जहानाबाद विधानसभा सीट से विधायक हैं।

– जयप्रकाश निषाद देवरिया के रुद्रपुर से विधायक हैं। वो राज्यमंत्री बने।

– अर्चना पांडेय ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली। वो कन्नौज की छिबरामऊ सीट से विधायक हैं।

– गुलाबो देवी ने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली। वह कल्याण सिंह सरकार में मंत्री रह चुकी हैं। वो यूपी की चंदौसी सीट से भाजपा की विधायक हैं।

इन्होंने राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ ली-
– स्वात‌ि स‌िंह ने राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ ली। स्वात‌ि ने अखिलेश के भाई अनुराग यादव को सरोजिनीनगर सीट से हराया है। स्वात‌ि पहली बार विधायक बनी हैं। बता दें क‌ि स्वात‌ि मायावती को अपशब्द कहने वाले दयाशंकर स‌िंह की पत्नी हैं।

– अनिल राजभर, राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार बने।

– सहारनपुर की नकुरपुर सीट से विधायक धर्म सिंह सैनी ने राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ ली। उन्होंने लगातार चौथी बार जीत दर्ज की।

– पश्चिमी यूपी में जाटों के बड़े नेता भूपेंद्र सिंह चौधरी ने राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ ली। वो 1990 से भाजपा में कई पदों पर रहे हैं।

– राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में स्वतंत्र देव सिंह ने शपथ ली। अभी वो किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं। वो आरएसएस के प्रचारक हैं।

– डॉ. महेंद्र सिंह, विधान परिषद के सदस्य हैं। उन्होंने राज्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

– उपेंद्र तिवारी राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ ली। वो बलिया के फेफना से चुनाव जीते हैं।

– राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में अनुपमा जायसवाल ने शपथ ली।

– सुरेश राणा ने राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ ली। वो मुजफ्फरनगर के थाना भवन से विधायक चुने गए।

इन्होंने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली-

– इलाहाबाद दक्षिण से भाजपा विधायक नंद कुमार गुप्ता नंदी ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। वो कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं।

– आशुतोष टंडन लखनऊ उत्तर विधान सभा सीट से विधायक हैं। उन्होंने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। वो लखनऊ यूनीवर्सिटी से आर्ट्स ग्रेजुएट है।

– मुकुट बिहारी वर्मा ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। वो बहराइच के कैसरगंज से दूसरी बार विधायक बने हैं।

– सिद्घार्थ नाथ सिंह ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। उन्होंने बसपा के विधायक पूजा पाल को हराया। वो पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री के नाती हैं।

– प्रतापगढ़ की पट्टी सीट से विधायक राजेंद्र प्रताप सिंह ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। वो 2003 में कृषि मंत्री भी रह चुके हैं।

– श्रीकांत शर्मा ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। वो मथुरा सीट से विधायक हैं। वो भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के करीबी माने जाते हैं।

– चेतन चौहान ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। वह भारतीय क्रिकेट टीम के सदस्य रहे हैं और 40 टेस्ट खेल चुके हैं।

– लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कैबिनेट मंत्री पद के लिए शपथ ली। वह मथुरा की छाता विधानसभा सीट से विधायक हैं। वो बीएसपी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए।

– ब्रजेश पाठक, लखनऊ मध्य से विधायक चुने गए। उन्होंने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। वो बसपा को छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं।

– ओम प्रकाश राजभर ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। उन्होंने जहूराबाद सीट से जीत दर्ज की।

– जय प्रताप सिंह ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ।

– रमापति शास्‍त्री ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। वो गोंडा के मनकापुर से विधायक है।

– सत्यदेव पचौरी ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। वो 1967 में अखिल भारतीय विद्याथी परिषद से राजनीति में आए। वो तीसरी बार के विधायक हैं।

– एसपी सिंह बघेल ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। वो सपा छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं। 56 वर्षीय बघेल टूंडला से विधायक हैं।

– धर्मपाल स‌िंह ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। वो आंवला से तीसरी बार भाजपा के विधायक हैं।

– दारा सिंह चौहान ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। वो मऊ की मधुबन सीट से विधायक हैं। वो पूर्व सांसद भी रह चुके हैं। 2015 में बसपा छोड़ भाजपा में हुए शामिल।

– लखनऊ कैंट से विधायक रीता बहुगुणा जोशी ने कैबिनेट मंत्री के रूप में शपथ ली। उन्होंने मुलायम की बहू अपर्णा यादव को हराया था।

– राजेश अग्रवाल ने शपथ ली। बरेली कैंट से बीजेपी के विधायक चुने गए हैं। वह पेशे से कारोबारी है। अमित शाह और योगी के करीबी माने जाते हैं।

 – सतीश महाना ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ।

– सूर्य प्रताप शाही ने कैबिनेट मंत्री के तौर पर ली शपथ। संघ के नेता के तौर पर शुरुआत की थी। यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके हैं।

– सुरेश खन्ना ने मंत्री पद की शपथ ली। वह आरएसएस के करीबी माने जाते हैं। लखनऊ से लॉ की पढ़ाई की है।

– स्वामी प्रसाद मौर्या ने मंत्री पद की शपथ ली। बसपा छोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं मौर्या। कुशीनगर की पडरौना सीट से चुनाव जीते हैं।