सफर पर निकली देश की पहली ‘हमसफर’

अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस देश की पहली हमसफर एक्सप्रेस शुक्रवार शाम 4:15 बजे नई दिल्ली के लिए रवाना हो गई। रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने नई दिल्ली से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए और गोरखपुर रेलवे स्टेशन पर एक समारोह के बीच महंत आदित्यनाथ और एनईआर के जीएम राजीव मिश्र ने ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। पहले दिन स्पेशल ट्रेन के रूप में निकली हमसफर एक्सप्रेस आनंदनगर, बढ़नी होकर चलाई गई। यह ट्रेन 12 घंटे 50 मिनट में आनंद विहार पहुंचाएगी। इस अवसर पर रेलवे स्टेशन के प्
लेटफार्म नौ पर दो एस्केलेटर का लोकार्पण भी किया गया।train_1481915705
 
हमसफर के उद्घाटन के बाद रेलमंत्री के संबोधन में यूपी चुनाव का असर साफतौर पर देखने को मिला। उन्होंने कहा कि रेल सेवा को बेहतर बनाने की कड़ी में हमसफर एक्सप्रेस को सबसे पहले गोरखपुर से चलाया गया है। इसका विस्तार करते हुए देश के सभी कोने से इस ट्रेन को चलाने की योजना है। इस साल चलाई गई नई ट्रेनों को गिनाते हुए कहा कि यूपी में सिर्फ ट्रेनें ही नहीं चलेंगी बल्कि रेलवे की बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए 40,453 करोड़ का बजट भी दिया गया है। उन्होेंने रेल के विकास में अपनी प्रतिबद्धता जताते हुए जनता से भी सहयोग की अपील की। उनका इशारा जल्द ही बढ़ने वाले रेल किराए से था।

उद्घाटन के समय रेलमंत्री के साथ रेल राज्यमंत्री राजेन गोहेन, सांसद पंकज चौधरी, राज्यसभा सदस्य शिव प्रताप शुक्ल थे और वहीं रेलवे स्टेशन पर सदर सांसद महंत आदित्यनाथ, सांसद जगदंबिका पाल, एनईआर जीएम राजीव मिश्र, मेयर डॉ. सत्या पांडेय, एमएलसी ध्रुव त्रिपाठी सहित रेल अधिकारी मौजूद थे।

हमसफर एक्सप्रेस से महज 10 घंटे में दिल्ली पहुंचने का दावा सिर्फ खोखला निकला। हाईस्पीड में चलने वाली हमसफर की स्पीड वैशाली और गोरखधाम एक्सप्रेस जैसी ही है। ट्रेन का शुरूआती किराया फिलहाल बराबर रखा गया है लेकिन कहा जा रहा है कि बाद में हमसफर का किराया करीब 600 रुपये बढ़ जाएगा।
गोरखधाम एक्सप्रेस, गोरखपुर से दिल्ली का सफर 13.15 घंटे और वैशाली एक्सप्रेस 13.40 घंटे में पूरी करती है। वहीं हमसफर एक्सप्रेस से यह दूरी तय करने में 12.50 घंटे लगेंगे। जहां तक किराया का सवाल है तो गोरखधाम एक्सप्रेस में एसी थ्री टियर का किराया 1125 रुपये है, जबकि हमसफर एक्सप्रेस में 1115 रुपये लगेंगे। लेकिन बाद में प्रीमियम किराए के चलते यात्रियों को 1780 रुपये तक भुगतान करना पड़ेगा। 
हमसफर एक्सप्रेस के टिकट की बुकिंग में हुई देरी का खामियाजा रेलवे को भुगतना पड़ा। गोरखपुर स्टेशन से ट्रेन में एक तिहाई बर्थ ही बुक हुई। ट्रेन में रिजर्व टिकट की बुकिंग शुक्रवार की सुबह आठ बजे शुरू हुई। दोपहर 12 बजे तक स्थिति बेहद खराब रही, महज 120 टिकट की बुकिंग हो सकी। लेकिन इसके बाद बुकिंग की स्पीड बढ़ी और चार्ट बनने तक संख्या 397 पहुंच गई, जिसमें काउंटर से 270 टिकट और 127 ई-टिकट बने। चार्ट बनने के बाद 27 यात्रियों ने करंट काउंटर से टिकट हासिल किया। 
हमसफर एक्सप्रेस का स्टॉपेज आनंदनगर और बलरामपुर स्टेशन पर भी बढ़ा दिया गया। दोनों स्टेशनों पर ट्रेन दो मिनट रुकेगी। शुक्रवार को चली देश की पहली हमसफर एक्सप्रेस भी दोनों स्टेशनों पर रुकी। श्रावस्ती के सांसद दद्दन मिश्र ने ट्रेन को श्रावस्ती में रोकने और महंत आदित्यनाथ व सांसद जगदंबिका पाल ने आनंदनगर स्टेशन पर स्टॉपेज की सिफारिश रेलमंत्री से की। पूर्वोत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी संजय यादव ने बताया कि प्रायोगिक तौर पर छह माह के लिए  हमसफर का स्टॉपेज दोनों स्टेशनों पर किया गया है।
हमसफर सुपरफास्ट एक्सप्रेस 20 दिसंबर से नियमित चलेगी। हमसफर एक्सप्रेस (12595) मंगलवार एवं वृहस्पतिवार को गोरखपुर से रात 8.00 बजे चलेगी, बस्ती से 9.01 बजे, गोंडा से 10.25 बजे, दूसरे दिन लखनऊ (उत्तर रेलवे) से 01.05 बजे तथा कानपुर सेंट्रल से 2.45 बजे छूटकर आनन्द विहार टर्मिनस सुबह 8.50 बजे पहुंचेगी। वापसी यात्रा में (12596) आनन्द विहार टर्मिनस-गोरखपुर हमसफर एक्सप्रेस बुधवार एवं शुक्रवार को आनंद विहार टर्मिनस से रात 8.00 बजे चलेगी और दूसरे दिन कानपुर सेंट्रल से रात 12.55 बजे, लखनऊ (उत्तर रेलवे) से 2.25 बजे, गोंडा से 5.05 बजे तथा बस्ती से 6.09 बजे छूटकर गोरखपुर सुबह 7.50 बजे पहुंचेगी। ट्रेन में वातानुकूलित तृतीय श्रेणी के 18 एवं जनरेटर सह लगेज यान के 02 कुल 20 कोच लगाए जाएंगे।
0
(12571) गोरखपुर-आनन्द विहार टर्मिनस वाया बढ़नी साप्ताहिक हमसफर सुपरफास्ट एक्सप्रेस रविवार को गोरखपुर से शाम 7.00 बजे चलकर बढ़नी से रात 8.44 बजे, गोंडा से 10.43 बजे दूसरे दिन लखनऊ (उत्तर रेलवे) से 1.05 बजे तथा कानपुर सेंट्रल से 2.45 बजे छूटकर आनन्द विहार टर्मिनस सुबह 8.50 बजे पहुंचेगी। वापसी यात्रा में (12572) आनन्द विहार टर्मिनस-गोरखपुर वाया बढ़नी साप्ताहिक हमसफर सुपरफास्ट सोमवार को आनन्द विहार से रात 8.00 बजे चलकर दूसरे दिन कानपुर सेंट्रल से रात 12.55 बजे, लखनऊ (उत्तर रेलवे) से 2.25 बजे, गोंडा से 5.05 बजे तथा बढ़नी से 6.42 बजे छूटकर गोरखपुर सुबह 9.15 बजे पहुंचेगी।