प्रवासियों की मदद के लिए पांच करोड़ डॉलर खर्च करेगी मेक्सिको सरकार

मियामी: अवैध इमीग्रेशन पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की कार्रवाई के जवाब में मेक्सिको की सरकार दीवार निर्माण का विरोध कर ही रही है. इसी के साथ वह निर्वासन से डरे हुए प्रवासियों को दी जाने वाली अपनी कानूनी मदद बढ़ाने के लिए पांच करोड़ डॉलर भी खर्च कर रही है.

LOUIS-VIDEGARAY (1)
अमेरिका में मेक्सिको के सभी 50 वाणिज्य दूतावासों ने कल गैर लाभकारी समूहों के साथ साझेदारी के जरिए कानूनी सहायता केंद्र शुरू किए हैं और ट्रंप की नीतियों से डरे हुए लोगों की मदद के लिए वकीलों को अपने साथ जोड़ा है.

यह कूटनीतिक प्रयास ऐसे समय पर किया जा रहा है. जब दोनों देशों के बीच सीमा पर दीवार बनाने की ट्रंप की योजना को लेकर तकरार चल रही है.

ट्रंप का कहना है कि मेक्सिको को किसी न किसी तरीके से इसके लिए भुगतान करना ही होगा, वहीं मेक्सिको कहता है कि वह भुगतान नहीं करेगा. इन केंद्रों की शुरूआत से महज दो हफ्ते पहले ही संघीय एजेंटों की संख्या बढ़ाकर स्थानीय कानून प्रवर्तन के साथ सहयोग मजबूत करके प्रवासियों को और सख्ती से हिरासत में लेने और निर्वासित करने से जुड़े दिशानिर्देश लाए गए थे.

मियामी में मेक्सिको के महावाणिज्यदूत जोस एंटोनियो जाबलगोइतिया ने शुक्रवार को कहा कि ये केंद्र ‘‘मेक्सिको के प्रवासियों के अधिकारों के वास्तविक पैरोकार’’ बनेंगे.

उन्होंने कहा, ‘‘इस समय हम कानूनी मामलों को सबसे ज्यादा प्राथमिकता दे रहे हैं. इससे पहले हमें अपने लोगों के लिए इतना अधिक कानूनी समर्थन मांगने की जरूरत नहीं थी लेकिन अब हमें उन्हें तात्कालिक निर्वासन से बचाने के लिए सुरक्षा देने की जरूरत है.’’