Monday , June 13 2022
Home / पूर्वांचल / आज़मगढ़ / बैंक पर पथराव, हाईवे किया जाम

बैंक पर पथराव, हाईवे किया जाम

cash-crisis_1481737102कैश की कमी से जूझ रहे बैंकों से रुपये न मिलने पर लोगों का धैर्य अब जवाब देने लगा है। बुधवार की शाम पांच बजे फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के बिलारमऊ स्थित यूनियन बैंक से रुपये न मिलने पर लोगों ने बैंक पर पथराव कर दिया। इसके बाद लखनऊ-बलिया मार्ग को जाम कर दिया। मौके पर पहुंचे फूलपुर कोतवाल ने गुरुवार को टोकन के जरिए रुपया वितरण कराए जाने का आश्वासन दिया। इसके बाद शाम सात बजे जाम समाप्त हुआ। उन्होंने लोगों में टोकन का वितरण कराया। उधर, मार्टीनगंज तहसील के लल्लूगंज सोहौली बाजार में यूनियन बैंक के समय से न खुलने पर नाराज लोगों ने बूढ़नपुर-बरहद मार्ग जाम कर दिया।
 
ठंड में बैंक खुलने के पहले से ही खाताधारक रुपये निकालने के लिए कतार में लग जा रहे हैं। बुधवार को बैंक खुलने से पहले ही बैंकों के बाहर रुपये निकालने वालों की भीड़ जुटी थी। तीन दिन की बैंकों की बंदी के बाद मंगलवार को अधिकतर एटीएम खाली ही रहे। इसके चलते लोगों को रुपये नहीं मिल सके। बुधवार को भी बैंक की शाखाओं में रुपये निकालने के लिए मारामारी जैसी स्थिति रही। इस क्रम में फूलपुर कोतवाली के बिलारमऊ स्थित यूनियन बैंक आफ इंडिया में कैश के लिए लोग भोर में ही लाइन लगा दिए थे। पूरे दिन रुपये के लिए लोग इंतजार करते रहे लेकिन शाम तक कैश नहीं मिला।

शाम पांच बजे गुस्साए ग्रामीणों ने लखनऊ-बलिया मार्ग को जाम कर दिया और नारेबाजी शुरू कर दी। इस बीच वहां मौजूद ग्रामीणों ने बैंक पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। ग्रामीणों के हंगामे के कारण वहां अफरातफरी मच गई थी। उधर, सूचना पाकर मौके पर पहुंची फूलपुर कोतवाली पुलिस लोगों को समझाने में जुटी थी। उधर, मार्टीनगंज तहसील के लल्लूगंज सोहौली बाजार स्थित यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की    शाखा में बुधवार को सुबह साढ़े   दस बजे तक बैंक का ताला नहीं खुला। इससे गुस्साए ग्रामीणों ने बूढ़नपुर-बरदह मार्ग को जाम कर दिया।

लोगों का कहना था कि दस दिन से बैंक से रुपये निकालने के लिए भोर में ही लाइन में लग जा रहे हैं लेकिन शाम को खाली हाथ ही वापस घर लौट जाते हैं। अपने ही रुपये के लिए हमें दर-दर की ठोकर खानी पड़ रही है। उधर, सूचना पाकर दोपहर एक बजे जाम स्थल पर पहुंचे बरदह थाने के एसआई मनीष उपाध्याय ने ग्रामीणों को समझा-बुझाकर जाम समाप्त कराया। दोपहर दो बजे बैंक में कैश आया। इसके बाद लोगों में कैश का वितरण किया गया।