Tuesday , June 14 2022
Home / पूर्वांचल / गोरखपुर / काम की धीमी रफ्तार पर सभी सीएमओ को चेतावनी

काम की धीमी रफ्तार पर सभी सीएमओ को चेतावनी

meeting_1481745357एनएचएम के तहत स्वास्थ्य महकमे में होने वाले कामों की रफ्तार धीमी पाए जाने पर कमिश्नर ने जहां पैक्सफेड के अधिशासी अभियंता से जवाब तलब किया है वहीं मंडल के सभी जिलों के सीएमओ को चेतावनी दी है। गोरखपुर जिला अस्पताल में फंड मिलने के बाद भी डायलिसिस यूनिट का निर्माण नहीं शुरू होने पर भी कमिश्नर ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हिदायत दी कि अगर जल्द काम नहीं शुरू हुआ तो कार्रवाई तय है।
कमिश्नर बुधवार को मंडल के विकास कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जो भी निर्माण कार्य पूरे कर लिए गए हैं, उनका 19 दिसंबर तक उद्घाटन कर दिया जाए। उन्होंने संयुक्त निदेशक शिक्षा को निर्देश दिया कि 19 दिसंबर को होने वाले लैपटॉप वितरण कार्यक्रम के पहले विद्यार्थियों की सूची का सत्यापन कर लें। लोहिया आवास की अपेक्षित प्रगति न होने पर अफसरों ने बताया कि विधायकों की संस्तुति और पात्रता की जांच में विलंब के चलते कुछ आवास लंबित है। सभी आवासों के निर्माण के लिए धन उपलब्ध करा दिया गया है।
क्लीन स्कूल, ग्रीन स्कूल के तहत मंडल में चयनित 10 स्कूलों में भी काम नहीं पूरा होने पर कमिश्नर ने शिक्षा विभाग के अफसरों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए जल्द काम पूरा करने का निर्देश दिया।

बैठक में डीएम गोरखपुर संध्या तिवारी, डीएम महराजगंज  वीके सिंह, डीएम कुशीनगर शंभू कुमार, सभी सीडीओ, उप निदेशक अर्थ एवं संख्या एए अंसारी समेत कई अफसर मौजूद रहे।मुख्यमंत्री संदर्भों में लापरवाही पर डीएम सख्त

मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त संदर्भों, शासन, राजस्व परिषद ऑनलाइन, जनता दर्शन तथा तहसील दिवस की लंबित समस्याओं पर डीएम ने कई विभागों के अफसरों पर नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने एडीएम (प्रशासन) को विभागवार अफसरों के साथ बैठक कर ऐसे सभी मामलों का निस्तारण सुनिश्चित कराने को कहा। उन्होंने विभागवार समीक्षा की तिथि तय करते हुए निर्देश दिया कि 15 दिसंबर को पुलिस व नगर विकास विभाग, 16 को राजस्व, लोनिवि, जलनिगम, विद्युत, लघु सिंचाई, आरईएस, एसडीएम, तहसीलदार, चकबंदी विभाग की समीक्षा करने को कहा।